NFT क्या है? यह कैसे काम करता है | NFT Kya Hai? 5 Most Expensive NFTs in The World

NFT Kya hai, NFT ka full form kya hai, NFT Kya hota hai, NFT Meaning in Hindi, What is NFT in Hindi.

समय के साथ इंटरनेट में बहुत सी चीजें बदलती रहती है, हमें नई-नई टेक्नॉलजी देखने को मिलती है और इसमें एक नया नाम जुड़ा है NFT का… जो पिछले कुछ समय से काफी चर्चा में है, अपनी एक अलग ही पहचान को लेकर, लोग इसके बारे में जानना चाह रहे है कि आखिर यह क्या है।

Hello Friends, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर, आज हम बात करने जा रहे है NFT के बारे में… NFT क्या है? (NFT Kya Hai?) यह किस काम आता है? NFT से पैसे कैसे कमाएं? NFT को कैसे बनाते है? NFT के कैसे सेल करें? NFT कैसे काम करता है? जानेंगे कुछ ऐसे NFTs के बारे में जो रिकार्ड कीमत पर बिके है, इसके अलावा NFT के बारे में और भी बहुत कुछ सीखेंगे, उम्मीद करता हूँ आपको यह पसंद आएगा।

NFT Kya Hai
NFT Kya Hai

NFT क्या है? (NFT Kya Hai?/NFT Kya Hota Hai)

एक आम भाषा में कहें तो NFT एक इमेज, GIF, विडिओ या किसी डॉक्यूमेंट के रूप में होता है लेकिन इसमें यह अंतर है कि कोई भी साधारण सी तस्वीर या आर्ट को हम देख सकते है उसे छू सकते है लेकिन NFT के साथ ऐसा नही है।

NFT किसी भी आर्ट का एक डिजिटल माध्यम है, जिसे हम छू नही सकते लेकिन देख सकते है और इसे वेरीफाई करने के लिए जिस टेक्नोलॉजी का सहारा लिया जाता है उसे ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी कहते है, आगे हम विस्तार से इस ब्लॉकचेन टेक्नॉलजी के बारे में बात करेंगे।

किसी अर्थव्यवस्था में फंजिबल एसेट उसे कहते हैं जिसका हाथों से लेन-देन हो सके, जैसे आपके पास 100-200 रुपये के नोट होते हैं जिनका आप लेन-देन कर पाते है, आपके पास मौजूद किताबें या कोई भी ऐसी चीज जिसका हाथों से लें-दें किया जा सके।

नॉन फंजिबल इससे ठीक उल्टा है, मान लेते है कि आपके पास कोई किताब है, यह संभव है कि उसकी और भी कॉपी बिक रही हो (या आपके दोस्त के पास हो) आप चाहें तो तो जो किताब आपके पास है उसे पढ़ सकते है या जो मार्केट मे या आपके दोस्त के पास है उसे पढ़ सकते है।

लेकिन क्या हो कि आप पूरी किताब पढ़ने के बाद उसपर मार्कर और हाईलाइटर से निशान लगा दें और किस पेज मे क्या है, पढ़ने के लिए जरूरी पन्नों को मोड दें तो, अब आपकी किताब बाकि के किताबों जैसी नहीं रही क्योंकि उसमें आपने जो निशान लगाया है, वो एकमात्र ऐसी किताब है, अब वो पूरी तरह से युनीक बन चुकी है क्योंकि किसी और के पास ऐसी बुक नहीं होगी।

जिस तरह से हम किसी महंगी पेंटिंग को देखते है, अक्सर लोगों को लगता है कि यह साधारण सी ही तो पेंटिंग है, इसमें कौन सी बड़ी बात है??? अक्सर लोगों की बात सही भी होती है लेकिन उस साधारण सी दिखने वाली पेंटिंग की कीमत पहले के समय में उसे बनाने वाले पेंटर से तय होती थी।

जितना बड़ा पेंटर उतनी महंगी पेंटिंग, भले ही वह कैनवस पर कुछ भी उल्टी-सीधी चीजें बना दें, लोगों की नजर में तो वह कीमती पेंटिंग हो जाती है, केवल पेंटर की पॉपुलैरिटी की वजह से।

और जब कोई पेंटर किसी पेंटिंग को बनाता है तो उसका नाम ही उसे यूनिक बनाता है कि भाई इसे इसने ही बनाया है, भले ही उस डिज़ाइन को और लोग भी क्यों न बना दें लेकिन असली पेंटिंग के साथ जो ऑथेंटिसिटी बनी है वह पेंटर के नाम और उसके सिग्नेचर के कारण है जो कि उसको सबसे अलग बनाता है।

डिजिटल वर्ल्ड में किसी पेंटिंग को NFT बनाने के बाद एक यूनिक आइडेंटिटी मिल जाती है, जिसे कोई भी कॉपी नही कर सकता है किसी NFT का असली मालिक कौन है इसे आसानी से पता लगाया जा सकता है और इसी यूनिकनेस को बनाने के लिए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का सहारा लिया जाता है।

याद रखिये कि जो चीज डिजिटल रूप में बदली या बनाई जा सकती है उसका NFT बनाया जा सकता है, जैसे इमेज, वीडियो, GIF इत्यादि।

NFT क्या है (NFT Kya Hai) इसके बारे में जानकारी मिल गयी होगी, अब आगे हम इससे जुड़ी अन्य चीजों के बारे में बात करेंगे।

NFT का फुल फॉर्म (NFT Full Form)-

NFT का फुल फॉर्म होता है, “Non-Fungible Token”, लेकिन इस पूरे वाक्य में Non-Fungible को आसानी से समझने के लिए हम Fungible की जगह Replacable को रख सकते है जिससे इसे समझना आसान हो जाता है।

जिसके बाद वर्ड बनता है “Non Replacable Token” तो हम इसमें आसानी से समझ सकते है कि ऐसा टोकन जिसे रिप्लेस न किया जा सकते मतलब उसकी जगह कोई दूसरी चीज नही हो सकती है।

यदि किसी डिजिटल एसेट को Non-Fungible का टोकन मिला है तो इसका मतलब है कि वह चीज दुनिया में एकमात्र ऐसी चीज है, भले ही उसकी कई सारी कॉपियां देखने को मिले लेकिन जब उसके ओरिजनल वर्जन की बात आती है तो वह सिर्फ एक ही हो सकता है और इसे आसानी से वेरीफाई किया जा सकता है, उस एसेट से जुड़ी जानकारी की मदद से।

NFT ब्लॉकचेन की मदद से काम कैसे करता है?-

ब्लॉकचेन को समझने से पहले हम साधारण सी चीज को समझने की कोशिश करते है, जब भी हमें किसी को पैसे भेजने की कोशिश करते है तो सामने वाले व्यक्ति का एकाउंट नंबर डालने के बाद हमें जो राशि भेजनी होती है, उसे भरने के बाद सेंड कर देते है और इसके सेकंड के भीतर ही पैसे रिसीवर के खाते में चले जाते है।

अब इस प्रक्रिया में हम जो भी पैसे भेजते है वह एक सेंट्रल ऑथोरिटी से वेरीफाई होता है और वह है बैंक, तो जब भी किसी को पैसे भेजते है सबसे पहले यूजर की रिक्वेस्ट बैंक के सर्वर पर जाती है.

और फिर सर्वर में मौजूद सॉफ्टवेयर ये देखता है कि आपके खाते में उतने पैसे मौजूद है कि नही जितना आप भेजना चाहते है, यदि उतने पैसे मौजूद होते है तो पेमेंट सक्सेसफुल जो जाता है, और आपके एकाउंट से पैसे कट कर रिसीवर के खाते में चले जाते है, जो कि कुछ इस तरह से होती है-

User (Sender) ➡️ Bank ➡️ Receiver

हम इसमें देखते है कि जब भी कोई भी पैसा ट्रांसफर करते है, तो हर ट्रांजेक्शन के लिए बैंक चेक करता है, तभी उसके बाद आगे पैसे भेजे जाते है, बैंक इसमें केंद्रीय भूमिका निभाता है, इस कारण इसे सेंट्रलाइज्ड सर्वर सिस्टम कहते है।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी इससे अलग है, इसमें यूजर का कोई भी डेटा वेरीफाई करना हो तो वह किसी एक सेंट्रल सर्वर पर नही होता है, बल्कि वह डाटा हजारों लाखों सर्वर पर मौजूद होता है।

जब भी हम कोई भी ट्रांजेक्शन करते है या NFT (NFT Kya Hai) को किसी को बेचते या खरीदते है, तो हमारे उस डेटा को हजारों लाखों कंप्यूटर्स पर मौजूद डेटा से मिलाया जाता है और जब इसको सही अप्रूवल देते है तो पेमेंट हो जाती है।

ब्लॉकचेन में किसी बैंक की तरह कोई भी एक सर्वर नही होता जो कि सभी ट्रांजेक्शन को मोनिटर करे, इसमें कोई भी डेटा हो वह एक कंप्यूटर पर न होकर लाखों कम्प्यूटर पर मौजूद होता है।

तो जब भी हमें कोई चीज किसी को ट्रांसफर करनी हो तो उन सभी लाखों कम्प्यूटर पर ये डेटा वेरीफाई होने के बाद अपडेट होता है, कि ये डिजिटल एसेट इस व्यक्ति से होकर इस व्यक्ति के एकाउंट में जा रहा है।

पहले किसी भी चीज पर उस फील्ड में टॉप पर रहने वाली कम्पनी का राज चलता था, लेकिन इस ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी ने इंटरनेट पर नए रास्ते खोल दिये है, आने वाले समय में हमें इस टेक्नोलॉजी का प्रयोग आमतौर देखने को मिलेगा।

NFTs इतना महंगा क्यों है?

पिछले कुछ समय से हमने कई सारी NFTs के बारे में न्यूज सुनी है जो मिलियन डॉलर में बिकी है, तो ऐसा क्या है जो इसको इतना महंगा बनाती है? तो दरअसल इसका सबका अच्छा उत्तर है हमारे शौक… लोग कहा करते है कि शौक बड़ी चीज होती है, इसके पीछे भी वही कारण है।

कई बार शौक ईमोशन से जुड़ा होता है, जिसके कारण कुछ लोग कितने भी पैसे देने के लिए तैयार हो जाते है और ऐसे लोग वही है जो इन कीमती NFTs (NFT Kya Hai) को खरीद सकते है।

ऐसा नहीं है कि ये हमेशा महंगा ही मिलता है हर कोई भी इसे 50$ या उससे कम में भी खरीद सकता है।

जिस तरह से पहले लोग किसी पेंटिंग, किसी फेमस खिलाड़ी की जर्सी, जूते, क्रिकेट की बात करें तो बैट, बॉल, स्टंप्स आदि को लोग खरीदने के लिए कितने भी पैसे देने के लिए तैयार हो जाते है.

क्योंकि उसके पीछे कुछ यादें या इमोशन जुड़ी होती है ठीक उसी तरह NFT के लिए भी ऐसे लोग चीजें खरीदते है और उसके लिए करोड़ों-अरबों देने के लिए तैयार हो जाते है, NFT नये जमाने का लोगों का यूनिक चीजें रखने का शौक है।

यह आर्टिकल भी पढ़ें –

Photoshop कैसे सीखे? Basic से Advance कोर्स की पूरी जानकारी | Photoshop Kaise Sikhe- TechEnter.in

PM WANI योजना क्या है? इंटरनेट बेचकर पैसे कैसे कमाएं | 5 Best Benefits of PM WANI Yojana in Hindi

अभी पढ़ रहे है- NFT क्या है? यह कैसे काम करता है | NFT Kya Hai? 5 Most Expensive NFTs in The World

यूपीआई आइडी क्या होता है? 5 Tips To Safe Your Account | UPI ID Kya Hota Hai?

ऑफलाइन पेमेंट क्या है? 5 Benefits Of Offline Payment | Offline Payment Kya Hai

NFT की कीमत कैसे तय की जाती है? –

Demand and Supply –

जब कोई चीज हमारे पास अधिक मात्र में होती है और उसे कोई नहीं पूछ रहा होता है तो उसकी कीमत कम होती है और जब किसी चीज की सप्लाइ कम हो या वह कम मात्र में उपलब्ध हो और उसकी जरूरत अधिक लोगों को हो तो उसकी कीमत ज्यादा होती है, इसे “डिमांड और सप्लाइ” नियम कहते है।

हमारे आसपास किसी भी चीज को देख सकते है है जहां उनकी कीमत इसी डिमांड और सप्लाइ के ऊपर चलती है, मार्केट में सब्जी खरीदने जाते है तो यह इसका सबसे बड़ा उदाहरण है जब सीजन होता है तब हमें कोई भी सब्जी काफी कम दाम में मिल जाती है और जब ऑफ सीजन होना है तब हेमेन वह सब्जी की कीमत ज्यादा देखने को मिलती है।

दुनिया में हर चीज की किमत काफी हद तक इसी डिमांड और सप्लाइ नियम के द्वारा ही तय होती है कि वह चीज महंगी बिकेगी या सस्ती।

NFT के साथ भी कुछ ऐसा ही सिस्टम होता है, यहाँ पर कोई भी डिजिटल प्रोडक्ट पूरी दुनिया में केवल एक ही होता है, तो इसलिए स्वाभाविक रूप से ज्यादा होती है, लेकिन इसकी कीमत के पीछे केवल यही कारण नहीं है, निचहे ये दोनों कारण भी है जो इसकी कीमत को बढ़ाने के लिए काम करते है।

Famus Personalty –

अभी तक आपने देखा होगा पहले किसी क्रिकेटर या फिल्म स्टार किसी चीज की नीलामी करते है तो उसके साथ उस फेमस पर्सनैलिटी का टैग लगा होता है कि इस स्टार ने ये सामान यूज किया है या इस क्रिकेटर ने यह स्पोर्ट्स आइटम किसी मैच में यूज किया है।

तो उन सभी चीजों के पीछे उसका कारण है फेमस होना, यही कारण है कि अधिकतर NFTs ऐसे ही व्यक्ति ने महंगे दामों में बेचे है, जो पॉपुलर है।

ऐसे ही ढेर सारे ज्ञानवर्धक जानकारी के लिए, नए आर्टिकल ईमेल बॉक्स में पाने के लिए अभी सबस्क्राइब करें- 👇🏻

Emotion –

किसी चीज के साथ जब हमारा इमोशन जुड़ा होता है तो हम उसे किसी भी कीमत पर खरीदना चाहते है, तब वहाँ पर पैसे की कोई कीमत नहीं रह जाती है।

और NFTs के साथ भी कुछ ऐसा ही है, जितने भी फेमस लोग है उनका अपने फैन के साथ कोई न कोई ईमोशन जुड़ाव जरूर होता है इसीलिए जब कोई प्रसिद्ध व्यक्ति अपनी किसी चीज को बेचता है तो वह महंगे दामों में बिकती है।

खरीदने वाले के भले ही वह चीज कोई काम न आये, लेकिन लोग इसे खरीदते है क्योंकि वह उनके इमोशन से जुड़ा होता है जिसके बारे में हमने पहले भी बात की है।

Most Expensive NFTs महंगे बिकने वाले NFTs –

1. Jack Dosry Tweet –

ट्विटर के Ex CEO (Cheaf Administrative Officer) ने कुछ समय पहले अपने पहले ट्वीट को 20 करोड़ रुपये में सेल किया और अपने पहले ट्वीट की ऑनरशिप खरीदने वाले व्यक्ति को दे दी।

United States की कंपनी Cent के जरिए Valuables नाम के एक प्लेटफॉर्म पर बिके इस Tweet के लिए उन्हें लगभग 20 करोड़ रुपये मिले, Jack ने यह ट्वीट 21 मार्च, 2006 को किया था, जो इस साल 22 मार्च को NFT के तौर पर बिक गया।

नीचे इस इमेज में आप उस ट्वीट को देख सकते है, इसे देखकर तो यही लगता है कि ये किस काम आ सकता है???

NFT Kya Hai
NFT Kya Hai, Twitter founder Jack Dorsy Tweet.

2. Pakistani Fan Viral Image –

पाकिस्तान के इस व्यक्ति को तो आपने किसी न किसी मीम (meme) मे देखा ही होगा, जो कि किसी मैच में TV पर दिखने के बाद अपने इस फेस की वजह काफी तेजी से वायरल हुई, इनके ऊपर लाखों मीम बने है जो कि बहुत पॉपुलर है, इन्होंने भी अपने इसी इमेज का NFT बनाया है, जिसे अब ये बेच रहे है और इससे अच्छे खासे पैसे कमा भी सकते है, अगर किस्मत ने साथ दिया तो।

NFT Kya Hai
NFT Kya Hai, Pakistani fan viral image.

3. Famed Pakistani meme –

हाल ही में, साल 2015 का एक मीम फिर से वायरल हो रहा था, ‘Friendship ended with MUDASIR’ नाम के इस मीम में एक पाकिस्तानी शख्स “मुहम्मद आसिफ रज़ा राना” ने अपने दोस्त के साथ दोस्ती खत्म होने को लेकर एक इमेज बनाया और इसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया।

NFT Kya Hai
NFT Kya Hai, Friendship ended with MUDASIR Viral meme.

इस मीम को बनाने वाले मुहम्मद आसिफ रज़ा राना और उनके दोस्त मुदस्सिर पर बने इस मीम से उन्हें खूब फायदा हुआ और वो सुर्खियों में भी रहे, यह NFT के रूप में 38 लाख रुपये में बिका, आप इस इमेज को देखेंगे तो कहेंगे कि क्या है इसमें, लेकिन भाई यह 38 लाख रुपये में बिका है।

4. Beeple’s Digital Painting –

अक्टूबर तक, Mike Winkelmann — the digital artist जिसे Beeple के नाम से जाना जाता है, इसके पहले तक उनकी कोई भी पेंटिंग $100 यानि 7000-8000 से महंगी नहीं बिकि लेकिन उनकी एक पेंटिंग जिसे उन्होंने NFT के रूप में बनाकर 512 करोड़ रुपये में बेचा।

ध्यान से देखने पर पता चलता है कि यह इमेज कई सारी Images का एक कोलाज है, जिसे बस एक के ऊपर एक करके चिपका दिया गया है।

NFT Kya Hai
NFT Kya Hai, Beeple’s Digital Painting

अक्टूबर में, विंकेलमैन ने एनएफटी की अपनी पहली श्रृंखला बेची, जिसमें एक जोड़ी $66,666.66 प्रत्येक के लिए कीमत लगाई जा रही थी, दिसंबर में, उन्होंने कुल $3.5 मिलियन में ऐसेट की एक श्रृंखला बेची। और पिछले महीने, मूल रूप से $66,666.66 में बिकने वाले NFT में से एक को $6.6 मिलियन में रिसेल किया गया था।

5. Gray Color Rock NFT –

हाल ही में एक ग्रे रंग (Gray Color Rock)के पत्थर की एक पेंटिंग NFT के तौर पर लगभग 75 लाख में बिकी है, यह एक डिजिटल पेंटिंग हैं, जिसमें एक बड़ा सा ग्रे रंग का पत्थर है, बस इस इमेज को NFT बना दिया गया जिसके बाद यह इतना महंगा बिका।

NFT Kya Hai
NFT Kya Hai, Gray Color Rock NFT

इन सबके अलावा इस साल जुलाई में ‘Super Mario 64′ वीडियो गेम का एक कार्टरिज एक नीलामी में 11.58 करोड़ रुपये में बिका, और भी ऐसी चीजें है जो इंटरनेट पर NFT के माध्यम से बिक रही है, जिसे लोग आश्चर्यचकित हो रहे है, कि ये क्या हो रहा है, अभी भी रोजाना ऐसे लाखों ट्रांजेक्शन हो रहे है लेकिन उन्हीं NFTs की खबरें आती है जो उम्मीद से काफी ज्यादा कीमत में बिकते है।

Summery Of The Article –

तो दोस्तों NFT क्या है? (NFT Kya Hai?) यह कैसे काम करता है, इस इसके बारे में यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं और यदि आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो उसे नीचे कमेन्ट बॉक्स में लिखना न भूलें, नई पोस्ट कि नोटिफिकेशन अपने फोन में पाने के लिए, बेल आइकॉन को दबाकर नोटिफिकेशन को Allow करना न भूलें, साथ ही ऊपर दिए गए स्टार वाले आइकॉन पर क्लिक करके इस पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें, धन्यवाद।

टेक्नॉलजी से जुड़ी शॉर्ट वीडियोज़ के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करना न भूलें-

यह आर्टिकल भी पढ़ें –

Photoshop कैसे सीखे? Basic से Advance कोर्स की पूरी जानकारी | Photoshop Kaise Sikhe- TechEnter.in

PM WANI योजना क्या है? इंटरनेट बेचकर पैसे कैसे कमाएं | 5 Best Benefits of PM WANI Yojana in Hindi

यूपीआई आइडी क्या होता है? 5 Tips To Safe Your Account | UPI ID Kya Hota Hai?

ऑफलाइन पेमेंट क्या है? 5 Benefits Of Offline Payment | Offline Payment Kya Hai

4.5/5(44 votes)
Spread the love

A Student, Digital Content Creator, Passion in Photography... Founder of Tech Enter. यहाँ पर आपको, योजना, एजुकेशन, गैजेट्स रिव्यू, टेक्नॉलजी, क्रिप्टो, पैसे कमाने के तरीके, फैशन& लाइफस्टाइल तथा ढेर सारे टॉपिक्स से जुड़ी जानकारियां मिलती रहेंगी Follow Us » Facebook Instagram Twitter Quora

Leave a Comment