ऑफलाइन पेमेंट क्या है? 5 Benefits Of Offline Payment | Offline Payment Kya Hai

Offline Payment Kya Hai, कहा जाता है भारत की आत्मा गांव में बसती है, ऐसा इसलिए कि अभी तक अधिकतर आबादी गांवों में ही रहती है, शहरो में किसी भी प्रकार की सुविधा पहुंचनी तो उसे लाने में देर नही लगती और आसान भी है लेकिन गांवों में कुछ साल पहले तक बेसिक जरूरतों के लिए भी कोई साधन नही मौजूद होते थे और इंटरनेट भी उनमें से एक है।

आज जहां हम इंटरनेट की खपत के मामले में पहले पायदान पर पहुंच गए है, पूरे भारत में लाखों GB डेटा हर महीने खर्च होते है, जो यह दिखाता है कि हमने कितनी जल्दी कितनी ऊंची छलांग लगाई है।

लेकिन क्या आपको पता है, अभी तक मात्र 41 प्रतिशत लोगों तक ही इंटरनेट पहुंच पाया है, तो सोचिये जब यह प्रतिशत और ज्यादा बढ़ेगा तो हम कितनी ज्यादा मात्रा में इंटरनेट खर्च कर रहे होंगे।

दूर दराज के गांवों में इंटरनेट की सुविधा देना थोड़ा मुश्किल काम है, तो अफसोस करने की बजाय हमें इसके उपायों पर ध्यान देना होगा।

ग्रामीण क्षेत्रों में लोग पैसों के लेन देन के लिए बैंकों के सहारे रहते है, इस कारण से उन्हें कोई छोटा सा भी काम होने पर बैंक जाना ही पड़ता है, इसमें दोनों के श्रम और संसाधन का नुकसान है।

भारत सरकार लगातार इस दिशा में कदम बढ़ा रही है, कि किस तरह अधिक से अधिक लोगों को डिजिटल पेमेंट सिस्टम के अंदर लाया जाये और इसी को देखते हुए Offline Digital Payments को लेकर आये है जो कि एक बेहतर समाधान है उनके लिए जो लोग गांवों में रहते है और इंटरनेट न होने के बावजूद पैसे भेजना चाहते है।

दोस्तों अभी तक हमें किसी को भी पैसे भेजने के लिए इंटरनेट की जरूरत पड़ती थी लेकिन अब आपको कहीं भी पैसे भैने के लिए इंटरनेट की जरूरत नही पड़ेगी, आप बिना डेटा के अपने पैसे किसी भी व्यक्ति को भेज पाएंगे।

Hello Friends, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज हम बात करेंगे ऑफलाइन डिजिटल पेमेंट के बारे में, ऑफलाइन पेमेंट क्या है? (Offline Payment Kya Hai) इसके क्या फायदे है? इसकी मदद से किसी को पैसे कैसे भेज सकते है, जानेंगे हम ईन सभी चीजों के बारे में, उम्मीद करता हूँ आपको यह पसंद आएगा।

Offline Payment Kya Hai

Offline Payment Kya Hai? ऑफलाइन पेमेंट क्या है?

इसको समझने से पहले हम अनलाइन पेमेंट के सिस्टम को समझते है तो जब भी हमें किसी को पैसे भेजने होते है तो हम वॉलेट के माध्यम से या यूपीआई, या डेबिट कार्ड और नेट बैंकिंग का सहारा लेते है।

इन सभी माध्यम से पैसे भेजने के लिए हमारा इंटरनेट से कनेक्ट होना जरूरी है , तभी हम किसी को भी पैसे भेज पाएंगे लेकिन ऑफलाइन पेमेंट माध्यम की बात करें तो इसके लिए किसी भी प्रकार के नेटवर्क की जरूरत नहीं होगी।

आप बिना इंटरनेट के या नेटवर्क के भी पैसे भेज पाएंगे, जो कि हर किसी के लिए इमरजेंसी में काम आ सकता है, और खासकर ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के लिए तो बहुत ही बढ़िया है, जैसा कि हमने पहले भी बात की है।

भारत के तीन विभिन्न हिस्सों में सितंबर 2020 से जून 2021 के पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसे शुरू किया गया था, जिसके आधार पर मिली सफलता और प्रतिक्रिया के आधार पर इस योजना की असली रूपरेखा तैयार करने में मदद मिली।

इसके अंतर्गत 2.41 लाख ट्रांजेक्शन किये गए थे जिसकी कुल कीमत 1.16 करोड़ रुपये थी, यह सुविधा मुख्यतः छोटी कीमतों के डिजिटल पेमेंट को ध्यान में रखकर तैयार की गयी है।

तो दोस्तों आपको समझ आ गया होगा कि ऑफलाइन पेमेंट क्या है ( Offline Payment Kya Hai ), आगे हम इसके अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर बात करेंगे।

इसे क्यों लांच किया गया है?

गवों और कस्बों में डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India) , बैंकिंग सिस्टम के अंदर ऑफलाइन भुगतान के तरीके को मंजूरी दी है।

आरबीआई ने कहा है कि इस तरह के लेन-देन के लिए किसी भी तरह के अतिरिक्त सत्यापन कारक(Additional Factor Authentication या OTP) की जरूरत नहीं होगी।

ऑफलाइन पेमेंट के माध्यम से कमजोर इंटरनेट कानेक्टिविटी वाले इलाकों में डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा मिलेगा, इसके साथ ही आरबीआई ने यह स्पष्ट किया है कि ऑफलाइन भुगतान के तरीके का इस्तेमाल केवल ग्राहक की अनुमति के बाद ही किया जा सकता है।

इससे कितने पैसे भेज पाएंगे?

ऑफलाइन पेमेंट के माध्यम से आप एक बार में अधिकतम 200 रुपये ही भेज सकते है और अधिकतम 2000 रुपये तक का पेमेंट कर सकते है, इसके बाद आप पेमेंट नहीं कर पाएंगे।

लिमिट समाप्त हो जाने के बाद इसे बढ़ाने के लिए अनलाइन मोड का उपयोग करना पड़ेगा और उसके बाद टू स्टेप वेरीफिकेशन के बाद ही पेमेंट कर पाएंगे जैसा कि अभी तक करते आये है।

क्योंकि इसमें भुगतान ऑफलाइन होगा इसलिए यूजर्स को पेमेंट की जानकारी SMS या ईमेल के जाइए सूचना कुछ समय के बाद मिलेगा।

ऑफलाइन पेमेंट सिस्टम काम कैसे करता है?

ऑफलाइन पेमेंट करने के लिए फेस-टू-फेस या निकटता से किसी भी माध्यम जैसे डेबिट कार्ड, इ वॉलेट, और मोबाईल फोन से किया जा सकता है।

ऑफलाइन पेमेंट कैसे करे?

यह पूरा सिस्टम कैसे काम करने वाला है और इसमें कैसे पेमेंट करेंगे इसके बारे में अभी कोई जानकारी सामने नहीं आई है, लेकिन जैसे ही इसके पेमेंट से जुड़ी इनफार्मेशन आती है, हम इसे अपडेट कर देंगे।

ऑफलाइन पेमेंट के फायदे –

1. दूर दराज के गांवों में जहां इंटरनेट की सुविधा नहीं है, आसानी से पेमेंट किया जा सकेगा।

2. क्योंकि यह बिना इंटरनेट के काम करने में सक्षम है इसलिए, इंटरनेट डेटा पैक रिचार्ज की जरूरत नही पड़गी।

3. स्मार्टफोन eWallet, एटीएम कार्ड, डेबिट कार्ड या किसी भी पेमेंट करने के माध्यम से भुगतान किया जा सकेगा, यह जरूरी नही कि केवल एक ही माध्यम हो इस तरह के टेक्नोलॉजी को प्रयोग करने के लिए।

4. क्योंकि यह बिना किसी नेटवर्क के भी काम करेगा इसलिए, लोगों का कीमती समय बचाने में काफी मददगार साबित होगा, जहां गांवों में नेटवर्क के लिए कई बार दूर जगह पर जाना पड़ता है, ताकि फोन में नेटवर्क आने पर इंटरनेट के सारे काम कर सकें, इसके साथ ही छोटी-छोटी राशि निकालने के लिए भी बैंक नही जाना पड़ेगा, जिससे कि बैंकों के ऊपर भी कम लोड पड़ेगा।

ऑफलाइन पेमेंट क्या है (Offline Payment Kya Hai) और क्यों यह जरूरी है, ये सारे doubt आपके क्लीयर हो गए होंगे, इसके फ़ायदों के साथ कुछ ऐसी चीजें भी है जो की एक यूजर के तौर पर आपको ध्यान रखना चाहिए, जिसके बारे में हम आगे बात करेंगे।

भारत में डिजिटल पेमेंट?

  • भारत में यूपीआई के माध्यम से कुल डिजिटल ट्रांजेक्शन का 60% तक लेन-देन होता है।
  • आरबीआई की रिपोर्ट के अनुसार डिजिटल पेमेंट करने का तरीका पिछले पाँच वर्षों में लगभग पाँच गुना हो गया है।
  • कैपिटल मार्केट कंपनी CLSA की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में डिजिटल ट्रांजेक्शन 2021 में 300 बिलियन डॉलर से बढ़कर, 2026 तक तीन गुना बढ़कर 1 ट्रिलियन डॉलर (1 Trillion Dollar) तक पहुँच जाएगा।
  • भारत में डिजिटल पेमेंट के लिए NPCI (National Payment Corporation of India) की देखरेख में होते है, इसे आरबीआई और इंडियन बैंक एशोसिएशन (Indian Bank Association) द्वारा The Payment and Settlement Act, 2007 के प्रावधानों के तहत स्थापित किया गया है।

यह आर्टिकल भी पढ़ें-

पासवर्ड क्या होता, आसानी से याद रखने और एक मजबूत पासवर्ड बनाने के लिए 5 बेहतरीन टिप्स

यूपीआई आइडी क्या होता है? 5 Tips To Safe Your Account

फॉटोशॉप कैसे सीखे, बेसिक से एडवांस तक के बिल्कुल फ्री के कोर्सेज की जानकारी

अभी पढ़ रहे है – ऑफलाइन पेमेंट क्या है? Offline Payment Kya Hai, 5 Benefits Of Offline Payment

ऑफलाइन पेमेंट की क्या कमियाँ है?

जिस तरह से हमें कोई भी नई चीज मिलती है तो उसको कैसे प्रयोग करना है इसके बारे में सीखना पड़ता है, ऑफलाइन पेमेंट सिस्टम भी कुछ ऐसा ही है।

आप इसका बेहतर लाभ उठा पाएं इसके लिए इसके जरूरी बातों को अवश्य समझ लें ताकि, कोई भी समस्या होने पर उसका समाधान आसानी से कर सकें।

भारत सरकार के द्वारा शुरू की गई इस बेहतरीन योजना के फायदे तो बहुत है, लेकिन इसकी कई सारी खामियां भी है, जिनके बारे में आपको जानना चाहिये।

नीचे कुछ ऐसे points जिनका आपको ख्याल रखना होगा किसी भी तरह की ऑफलाइन पेमेंट करते समय-

1- क्योंकि यह पेमेंट ऑफलाइन माध्यम से होगा इसलिए आपको realtime में यह पता नहीं चल सकेगा कि आपके अकाउंट से कितने पैसे कटे और कितने बाकी है, हालांकि कुछ समय के बाद मैसेज कें अध्यम से इसके बारे में आपको SMS के माध्यम से पता चल जाएगा।

2- यह सारा काम एक अलग टेक्नॉलजी पर काम करने वाला है जिसके बारे में अभी कोई जानकारी सामने निकल कर नहीं सामने आई है आखिर किस तरह से पैसे एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर होगें।

3- आज के समय नए- नए फ्रॉड करने के तरीके आ रहे है जिसमें कई बार लोगों को जानकारी होने के बावजूद धोखा खा जाते है, अब क्योंकि यह फीचर ग्रामीण क्षेत्रों कर लोगों को ध्यान में रखकर लाया गया है तो, ऐसे में आसानी से धोखाधड़ी की जा सकती है।

ऑफलाइन पेमेंट क्या है (Offline Payment Kya Hai) इसके बारें में जाने के लिए आप यह विडिओ भी देख सकते है-

ऊपर लिखे ये सारे डाउट जो अभी के समय में हमारे मन में है लेकिन हो सकता है जब यह आम लोगों के प्रयोग के लिए उपलब्ध हो तब हो सकता है, इन समस्याओं को हल किया जा चुका हो और भविष्य में हमें ये प्रॉबलम न देखने को मिले।

कृपया इसको एक प्रश्न के नजरिए से देखें इन पॉइंट्स को पढ़कर इसके खराब होने का नजरिया न बनाए, साथ ही यदि आपके आसपास कोई फ्रॉड करता है तो उसे रोकिए, यदि किसी को जानकारी नहीं है तो उसे इसके बारे में जानकारी दें कि किस तरह से हम चीजों का सही इस्तेमाल कर सकते है, कौन सी गलतियाँ है जो नहीं करनी चाहिए।

क्योंकि कोई भी टेक्नॉलजी जब भी आती है तो शुरुआत में कुछ न कुछ कमी आमतौर पर देखने को मिल जाती है और हमारा भी यही मानना है कि किसी भी नई चीज को एक्सेप्ट करना और उसमें क्या सुधार किया जा सकता है इसपर ध्यान देना चाहिए।

निष्कर्ष –

तो दोस्तों ऑफलाइन पेमेंट क्या है? (Offline Payment Kya Hai?) और इसके क्या फायदे है इसके बारे में यह जानकारी आपको कैसी लगी हमें जरूर बताएं नीचे कमेन्ट बॉक्स में, ऐसी ही और ढेर सारी पोस्ट की सूचना अपने फोन में पाने के लिए नीचे दिए गए बेल आइकन को दबाकर नोटिफिकेशन को Allow कर दें, साथ ही ऊपर स्टार वाले आइकन पर क्लिक करके इस आर्टिकल को स्टार रेटिंग देना न भूलें, धन्यवाद 🙂

5/5(1 vote)
Spread the love

A Student, Digital Content Creator, Passion in Photography... Founder of Tech Enter. यहाँ पर आपको, योजना, एजुकेशन, गैजेट्स रिव्यू, टेक्नॉलजी, क्रिप्टो, पैसे कमाने के तरीके, फैशन& लाइफस्टाइल तथा ढेर सारे टॉपिक्स से जुड़ी जानकारियां मिलती रहेंगी Follow Us » Facebook Instagram Twitter Quora

Leave a Comment