SSC Kya Hai【एसएससी क्या है】SSC के सभी पोस्ट की पूरी जानकारी

SSC Kya Hai | एसएससी क्या है? | SSC in Hindi | SSC Kya H | SSC Kya Hota Hai | एसएससी क्या होता है? | SSC में कौन-कौन सी पोस्ट आती है?

हमारे देश में परीक्षायें काफी बड़े स्तर पर कराई जाती है और भारत में लाखों की संख्या में स्टूडेंट्स परीक्षा देने बैठते है ऐसे में उनके परीक्षा देने के लिए सही से समुचित व्यवस्था हो सके इसके लिए कई सारी संस्थाएं बनाई गयी है और SSC भी उनमें से एक है।

Hello Freinds, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज हम बात करने जा रहे है SSC के बारे में, SSC क्या है? (SSC Kya Hai?), इसके अंतर्गत कौन-कौन सी परीक्षाएं आयोजित की जाती है और उन सभी परीक्षाओं के बारे में भी विस्तृत जानकारी मिलेगी, उम्मीद करता हूँ आपको यह पसंद आएगा।

SSC Kya Hai? एसएससी क्या है?

ssc kya hai SSC Kya Hai
SSC Kya Hai | SSC Kya Hota Hai | SSC in Hindi | एसएससी क्या है?

SSC के द्वारा अगर केवल कॉम्पिटिटिव एक्जाम देने वाले छात्रों की संख्या की बात करें तो यह संख्या भी कई देशों की जनसंख्या से ज्यादा है, कोई भी छात्र जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा होता है उसे SSC (SSC Kya Hai) के बारे में जरूर कुछ न कुछ जानकारी अवश्य सुनी होगी।

SSC का फुल फॉर्म ‘स्टाफ सिलेक्शन कमीशन’/Staff Selection Commission होता है, SSC एक भारतीय ऑर्गनाईजेशन है, हिन्दी में इसे ‘कर्मचारी चयन आयोग’ कहा जाता है।

4 November 1975 को भारत सरकार (Goverment Of India) ने अधीनस्थ सेवा आयोग (Subordinate Service Commission) के नाम से एक आयोग का गठन किया।

इसके बाद 26 सितंबर 1977 को ‘अधीनस्थ सेवा आयोग’ का नाम बदलकर ‘कर्मचारी चयन आयोग’ (Staff Selection Commission) कर दिया गया, जिसे आमतौर पर एसएससी (SSC) के नाम से जाना जाता है और वर्तमान में यही नाम चल रहा है।

कर्मचारी चयन आयोग भारत सरकार के मंत्रालयों और विभिन्न विभागों में Group B और Group C के विभिन्न पदों के लिए भर्ती और इस भर्ती की प्रक्रिया को सुचारु रूप से करने के लिए परीक्षाएं आयोजित करता है।

जब भी goverment किसी विभाग में हुए खाली पदों के लिए, किसी नए विभाग बनने के कारण, या किसी अन्य कारण से वैकेंसी होती है तो उसके पदों के लिए योग्य अभ्यर्थियों के चयन के लिए भारत सरकार द्वारा SSC को इसकी जानकारी दी जाती है।

और इसकी आवश्यक कागजी कार्यवाही करने के बाद, ‘कर्मचारी चयन आयोग’ इसकी परीक्षा आयोजित करता है, जिसके बाद सिलेक्ट हुए अभ्यर्थियों को आगे की प्रक्रिया के लिए इसकी जानकारी गोवर्मेंट को दे दी जाती है।

SSC की संरचना –

SSC की अध्यक्षता, अध्यक्ष करते है जिन्हें दो सचिव और एक सचिव-सह-परीक्षा-नियंत्रक सहयोग प्रदान करते है, अध्यक्ष को मुख्यालय के अन्य अधिकारियों तथा कर्मचारियों और विभिन्न स्थलों पर स्थापित क्षेत्रीय कार्यालयों के नेटवर्क द्वारा सहायता मिलती है।

SSC का मुख्यालय –

कर्मचारी चयन आयोग का मुख्याल नई दिल्ली में स्थित है, सभी परीक्षाएं तथा प्रशासनिक मामले अध्यक्ष के समक्ष दो सदस्यों के माध्यम से प्रस्तुत किये जाते है, सचिव दोनों सदस्यों के अंतर्गत कार्य करते है।

इसके अलावा आयोग की सेवाओं और उत्तरदायित्वों को पूरा करने के लिए मुख्यालय में एक निदेशक, एक उप सचिव, दो संयुक्त निदेशक, नौ यावर सचिव, चार उप-निदेशक, एक वित्त व बजट अधिकारी, एक सहायक निदेशक (राजभाषा), 24 अनुभाग अधिकारी और 183 से अधिक सहायक अधिकारी/कर्मचारी कार्य कर रहे है।

क्षेत्रीय/उप-क्षेत्रीय कार्यालय –

अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए देश के विभिन्न भागों में स्थित परीक्षा केंद्रों/उप-केंद्रों के एक बड़े नेटवर्क के माध्यम से परीक्षा के सुचारु रूप से सम्पन्न कराने के लिए आयोग को क्षेत्रीय गठन उपलब्ध कराया गया है।

Present Time में प्रयागराज, मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, गुवाहाटी, चेन्नई,बैंगलोर में 7 क्षेत्रीय कार्यालय और रायपुर तथा चंडीगढ़ में दो उप क्षेत्रीय कार्यालय है।

प्रत्येक क्षेत्रीय कार्यालय के प्रमुख क्षेत्रीय निदेशक है और उप क्षेत्रीय कार्यालय के प्रमुख उप-निदेशक है। आयोग द्वारा, कार्मिक एवं प्रक्षीण विभाग की अनुमति से ऐसे अन्य स्थानों पर आवश्यक समझने जाने पर और क्षेत्रीय/उप-क्षेत्रीय कार्यालय खोल सकता है।

‘SSC’ कौन-कौन सी परीक्षाएं कराता है?

SSC Kya Hai और यह किस तरह से ये यह आयोग बना इसके बारे में हमने ऊपर जानकारी दे दी है, साथ ही एसएससी के द्वारा भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के लिए ग्रुप बी और ग्रुप सी के लिए परीक्षायें आयोजित की जाती है।

लगभग कुल ऐसे 47 छोटे-बड़े पद है जिनके लिए कर्मचारी चयन आयोग परीक्षायें आयोजित कराता है, जिनके लिए आप SSC के परीक्षा की तैयारी कर सकते है।

SSC के लिए आवश्यक योग्यता –

अलग-अलग पदों के लिए कर्मचारी चयन आयोग (SSC Kya Hai) की परीक्षाओं के लिए अलग-अलग योग्यता मांगी जाती है, लेकिन इसके लिए कम से कम योग्यता की बात करें तो आपको हाईस्कूल (10 th) करना अनिवार्य है।

योग्यता के आधार पर मिलने वाले पद भी उसी आधार पर महत्वपूर्ण होते है, ग्रेजुएशन लेवल की परीक्षा के लिए मिलने वाले पद, 10th के लेवल पर मिलने वाले पद से कहीं ज्यादा मत्वपूर्ण होते है।

आप चाहे तो हाईस्कूल के बाद एग्जाम दे सकते है और चाहें तो पढ़ाई आगे जारी रखते हुए ग्रेजुएशन के बाद परीक्षा दे सकते है।

SSC की परीक्षाओं के लिए उम्र सीमा –

जैसा कि हमने ऊपर बात की है कि ‘कर्मचारी चयन आयोग’ के द्वारा अलग- अलग पदों के लिए अलग-अलग एजुकेशनल क्वालिफ़िकेशन मांगी जाती है, उसी तरह उम्र को लेकर भी अलग – अलग पोस्ट के लिए उम्मीदवारों की जरूरत होती है।

लेकिन SSC द्वारा टी किये गए एक निश्चित क्राइटेरिया की बात करें तो उसके हिसाब से किसी भी अभ्यर्थी की न्यूनतम उम्र 16 और अधिकतम उम्र 36 वर्ष होनी चाहिए।

किसी भी आने वाली नई वैकेंसी पर उस पोस्ट के लिए जरूरी योग्यता के साथ उम्र की भी जानकारी दी गयी होती है, तो जब भी आप फॉर्म भरते है आपको वहाँ पर पूरी तरह से इसके बारे जानकारी मिल जाएगी।

SSC के लिए शारीरिक मापदंड –

एसएससी के अंदर कई तरह की पोस्ट मौजूद है जैसे- MTS को ऑफिसियल रिक्तियों को भरने के लिए किया जाता है और इस परीक्षा को पास करने के बाद ड्यूटी ऑफिस के अंदर या अन्य कहीं भी पेपर वर्क से संबंधित होता है, तो इसके लिए लंबाई की बाध्यता नहीं होती।

जबकि SSC GD को पास करने के बाद पुलिस में अलग – अलग पदों पर नियुक्ति मिलती है तो इसके लिए एक मिनिमम हाइट जरूरी होता है जो कि आयोग द्वारा तय किया जाता है।

क्योंकि अलग-अलग पद उम्र, योग्यता के लिए निर्धारित है उसी तरह, किसी भी अभ्यर्थी की लंबाई को लेकर भी अलग-अलग जरूरत होती है। (SSC Kya Hai)

SSC में कौन-कौन से पद होते है? –

जैसा कि हमने ऊपर भी बात की है कि SSC Kya Hai और इससे जुड़ी अन्य कई सारी चीजों, लेकिन आप सबको यह भी जानना जरूरी है कि कर्मचारी चयन आयोग बहुत से पदों के लिए भर्तियाँ करता है, नीचे हम उन महत्वपूर्ण परीक्षाओं के बारे में बात करेंगे जिनके माध्यम से लगभग सभी पदों पर भर्तियाँ करता है –

1. SSC CGL एसएससी सीजीएल –

यह SSC की प्रतिष्ठित नौकरियों में से एक माना जाता है और यह आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं में से एक बहुत ही महत्वपूर्ण परीक्षा है।

Staff Selection Commission द्वारा प्रत्येक वर्ष भारत सरकार (Goverment Of India) के विभिन्न मंत्रालयों, विभागों एवं संगठनों में होने वाली Group B (Non-Technical) और Group C (Non-Gazetted या गैर-राजपत्रित) वैकेंसी के लिए, योग्य उम्मीदवार का चीन करने हेतु, CGL (Combined Graduate Level Exam) को आयोजित करता है।

SSC Kya Hai
SSC Kya Hai, SSC CGL

इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद आप आयकर, उत्पाद शुल्क, सीबीआई, डाक, नारकोटिक्स, एनआईए इत्यादि केन्द्रीय सरकार के विभागों में इंस्पेक्टर, परीक्षक अथवा सहायक बन सकते है।

SSC CGL के अंतर्गत लगभग 30 पोस्ट आते है, जो आपकी परीक्षा के आधार पर इनमें से किसी एक पोस्ट के लिए चुने जा सकते है।

Assistant Audit Officer (AAO)
Inspector (Examiner)
Assistant in MEA
Central Excise Inspector
Preventive Officer Inspector
Assistant Enforcement Officer (AEO)
Assistant (CVC), Assistant (AFHQ), Assistant (IB)
Assistant (Ministry of Railway)
Assistant Section Officer (ASO)
Sub Inspectors (CBI), Sub Inspector (NIA)
Inspector (Narcotics)
Inspector of Posts/ Postal Inspector
Junior Statistical Officer (JSO)/ Statistical Investigator
Income Tax Inspector (ITI)
Divisional Accountant
Auditor (CAG), Auditor (CGDA), Auditor (CGA)
Accountant/ Junior Accountant (C&AG), Accountant/ Junior Accountant (CGA)
Tax Assistant (CBIC), Tax Assistant (CBDT)
Senior Secretariat Assistant, Sub Inspector (Narcotics)
Compiler (Registrar General of India)

ध्यान दें इसमें कई सारी चीजें है जिनपर आपको कोई पोस्ट का मिलना निर्भर करता है, जैसे परीक्षा में मिले नंबर, इंटरव्यू (यदि शामिल हो तो) रिजर्वेशन, परीक्षा के अन्य नियम इत्यादि।

SSC CGL के लिए आवश्यक योग्यता –

Combined Graduate Level Exam, जैसा की नाम से पता चलता है, यदि आप CGL की परीक्षा में बैठना चाहते है तो किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक होना जरूरी है, या आप अभी स्नातक के आखिरी वर्ष में ही तो भी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते है।

इसके साथ ही CGL के अंतर्गत दो ऐसे पद भी आते है जिनके लिए आपको Staff Selection Commission के द्वारा तय किये गए मापदंडों को पूरा करना होगा और वह है –

1 – Assistant Audit/Accounts Officer –

Assistant Audit Officer/ Assistant Accounts Officer (AAO) बनने के लिए स्नातक होने के साथ नीचे ये वांछनीय योग्यतायें होनी चाहिए- चार्टर्ड एकाउंटेंट (Chartered Accountant) | Cost & Management Accountant | Company Secretary | Master’s degree in Commerce | Post Graduate Diploma in Management (PGDM) | Masters in Business Studies | Masters of Business Administration (MBA) | Masters in Business Economics

2 – Junior Statistical Officer/Investigator – II

Junior Statistical Officer/ Statistical Investigator Grade- II पद के लिए स्नातक होने के साथ नीचे ये वांछनीय योग्यता – स्नातक होने के साथ-साथ 12 वीं कक्षा में गणित विषय में कम से कम 60% मार्क्स होने चाहिए या आपके स्नातक के विषयों में सांख्यिकी (Statistics) का विषय भी सम्मिलित होना चाहिए।

वांछनीय योग्यता की जरूरत तब होती है जब एक ही पोस्ट के लिए एक से ज्यादा अभ्यर्थी हो जाते है तो उस स्थिति में, वांछनीय योग्यता के आधार पर ही बेस्ट कैंडीडेट को चुना जाता है।

SSC CGL के लिए उम्र सीमा –

CGL की परीक्षा देने के लिए OBC (Other Backword Class) के अभ्यर्थियों को 3 वर्ष और SC/ST के अभ्यर्थियों को आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट मिलती है, इसके साथ ही शारीरिक रूप से अक्षम परीक्षार्थियों के लिए और भी ज्यादा छूट दी जाती है जिसके बारे में पूरी जानकारी आप नीचे दिए गए इस टेबल से समझ सकते है-

CategoryAge Relaxation
OBC3 years
SC/ST5 years
PH + General10 years
PH+OBC13 years
PH + SC/ST15 years
Ex-Servicemen (General)3 years
Ex-Servicemen (OBC)6 years
Ex-Servicemen (SC/ST)8 years

एसएससी CGL का परीक्षा पैटर्न –

Combined Graduate Level की परीक्षा चार स्तरों में आयोजित की जाती है, पोस्ट की एजुकेशनल क्वालिफ़िकेशन की जरूरत के हिसाब से इन सभी Tier को उत्तीर्ण करना अनिवार्य है।

Tier परीक्षा का प्रकार परीक्षा का माध्यम
Tier-1Objertive Multiple Choice TypeComputer Based (Online)
Tier-2Objertive Multiple Choice Type Computer Based (Online)
Tier-3Descriptive Paper English अथवा हिन्दी मेंपेन और पेपर आधारित परीक्षा (Offline)
Tier-4Skil Test : Data Entry Speed Test (DEST)/Computer Proficiency Test (CPT)Computer Based Exam

SSC CHSL एसएससी सीएचएसएल –

यदि आप ग्रेजुएशन से पहले गोवर्मेंट जॉब करने की सोच रहे है तो SSC CHSL एक बहुत ही अच्छा विकल्प हो सकता है, COMBINED HIGHER SECONDARY LEVEL EXAMINATION 12 वीं के बाद सरकारी नौकरियों के लिए अच्छा मौका हो सकता है।

SSC Kya Hai
SSC Kya Hai, SSC Chsl

CHSL (SSC Kya Hai) जो कि संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर की परीक्षा है यह पूरी तरह से 10+2 स्तर पर आधारित परीक्षा है, इस परीक्षा को क्लियर करने के बाद आप एलडीसी क्लर्क (Lower Division Clerk), पोस्टल अससिस्टेंट/शॉर्टिंग अससिस्टेंट (Postal Assistants/Sorting Assistants (PA/SA), कोर्ट क्लर्क (Court Clerk) इत्यादि पदों पर कार्य कर सकते है।

SSC CHSL के लिए आवश्यक योग्यता –

इस परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 12वीं (10+2) या इसके समकक्ष कोई परीक्षा उत्तीर्ण किया हुआ होना चाहिए।

यदि आप Data Entry Operator के लिए एक्जाम देना चाहते है तो इस पोस्ट के लिए 12वीं में विज्ञान वर्ग से गणित विषय का होना जरूरी है।

SSC CHSL का परीक्षा पैटर्न –

COMBINED HIGHER SECONDARY LEVEL EXAMINATION की परीक्षा कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा, 3 चरणों में आयोजित की जाती है, ऊपर दिए गए CHSL की पोस्ट में से किसी एक के लिए जॉब लेने के लिए निम्नलिखित Tier को पास करना होगा –

Tierपरीक्षा का प्रकार Paper Medium
Tier-IObjective Multiple Choice TypeComputer Based (Online)
Tier -IIDescriptive Paper English अथवा हिन्दी में पेन और पेपर आधारित परीक्षा (Offline)
Tier-IIIData Entry Speed Test (DEST)/Typing TestComputer Based

SSC MTS एसएससी एंमटीएस –

SSC MTS, कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली एक महत्वपूर्ण परीक्षाओं में से एक है, यह भारत सरकार के विभिन्न विभागों और मंत्रालयों में Group C (non-clerical) पोस्ट पर जॉइनिंग के लिए की जाती है।

यह परीक्षा खासतौर पर उन छात्रों के लिए ज्यादा importent है जो दसवीं के बाद से गोवर्मेंट जॉब करना चाहते है।

एसएससी MTS के लिए आवश्यक योग्यता –

MTS (SSC Kya Hai) की परीक्षा देने के लिए , किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड या संस्थान से 10th या इसके समक्ष परीक्षा उत्तीर्ण की होनी चाहिए, यदि आप 10th class में पढ़ाई कर रहे है तो भी इस फॉर्म को भर सकते है।

एसएससी MTS का परीक्षा पैटर्न –

Paperपरीक्षा का प्रकार परीक्षा का माध्यम
Paper-IObjective Multiple Choice TypeComputer Based (Online)
Paper-IIDescriptive Paper/वर्णनात्मक पेपर पेन और पेपर आधारित परीक्षा (Offline)

SSC GD एसएससी जीडी –

SSC GD का फुल फॉर्म Staff Selection Commission General Duty Constable होता है, हिन्दी में इसे हिंदी में आप “कर्मचारी चयन आयोग सामान्य कर्तव्य सिपाही” कह सकते है।

SSC Kya Hai
SSC Kya Hai, SSC GD

SSC GD की परीक्षा के द्वारा प्रत्येक वर्ष भारत सरकार के Central Armed Police Force (CAPF), NIA, SSF और Rifleman (GD) in Aassam Rifles इत्यादि डिपार्टमेंट्स में कॉन्स्टेबल के खाली पदों पर नई रिक्रूटमेंट की जाती है।

SSC Kya Hai और इसके कुछ विभागों के बारे में हमें जाकारी मिल गयी अब आगे SSC GD के लिये अभ्यर्थी को आवश्यक योग्यताओं के बारे में बात करेंगे।

एसएससी जीडी के लिए आवश्यक योग्यता –

SSC MTS की तरह GD के लिए भी एजुकेशनल क्वालिफ़िकेशन के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड या संस्थान से 10th या इसके समकक्ष उत्तीर्ण होना चाहिए।

इसके अलावा क्योंकि इस परीक्षा को क्लियर करने के बाद पुलिस या ने किसी संस्था सुरक्षा बल के तौर पर जॉब लगती है, इसलिए परीक्षा के साथ-साथ SSC के द्वारा तय किये गए अलग-अलग शारीरिक मापदंडों को पूरा करना होता है।

एसएससी GD का परीक्षा पैटर्न –

SSC GD की परीक्षा की प्रक्रिया चार चरणों में की जाती है, यदि आप इनमें से किसी एक स्टेप में फेल हो जाते है तो आपको बाहर कर दिया जाता है, इसलिए यह जरूरी है कि आप सभी मापदंडों को पूरा करने साथ-साथ इन सभी स्टेप्स को पूरा करें-

Paper/Test ExamExam Type
Paper Objective type Paper (100 Questions)Computer Based Examination
Test-IPhysical Efficiency Testअभ्यर्थी को टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा
Test Physical Standard Testअभ्यर्थी को टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा
Test Physical Standard Testअभ्यर्थी को टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा

एसएससी GD की परीक्षा के लिए उम्र सीमा –

OBCआयु सीमा से 3 वर्ष
SC/STआयु सीमा से 5 वर्ष
Ex-Servicemenआयु सीमा से 3 वर्ष

एसएससी GD की परीक्षा के लिए शारीरिक मापदंड –

चुने गए अभ्यर्थियों की मेडिकल फिटनेस का आंकलन करने के लिए CAPF द्वारा गठित मेडिकल बोर्ड द्वारा, जांच की जाती है, जिसके लिए आपको इस शारीरिक योग्यताओं पर खरा उतरना होगा-

  • आपकी आंख 6/6 की होनी चाहिए
  • आपको रंगों को देखकर उसमें अंतर को पहचानना आना चाहिए, दूसरे शब्दों में कहें तो आपको कलर ब्लाइन्डनेस नहीं होनी चाहिए
  • लेसिक (Lesic) सर्जरी की अनुमति नहीं है
  • यदि आप चश्मा पहनते हैं तो आपको Reject कर दिया जायेगा
  • आपको सुनने में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होनी चाहिए
  • आपका वजन (Weight), लम्बाई और उम्र के हिसाब से (एक अनुपात में) होना चाहिए
  • यदि अभ्यर्थी knock knee, flat foot, varicose vein or squint in eyes से परेशान है तो उसे मेडिकल में Reject कर दिया जायेगा|

GD की परीक्षा के लिए लंबाई के शारीरिक मापदंड –

पुरुष अभ्यर्थी के लिए शारीरिक मापदंड

HeightQualification
OBC170 Centimeters
SC/ST162.5 Centimetres
Chest Qualification
OBCसीने की माप बिना फुलाये 80cm और फूलने के बाद 85cm होनी चाहिए
SC/ST सीने की माप बिना फुलाये 76cm और फूलने के बाद 81cm होनी चाहिए

महिला अभ्यर्थी के लिए शारीरिक मापदंड –

General, OBC, SC157cm
ST150cm

GD की परीक्षा के लिए लंबाई के शारीरिक शारीरिक दक्षता –

इस परीक्षा में दौड़ के लिए पूरे भारत के Male Candidates को 5KM की रेस 24 Minutes में पूरी करनी अनिवार्य है।

जबकि लद्दाख रिजन के लिए 1.6 KM की रेस 6.5 Minutes में पूरी करनी अनिवार्य है।

वहीं महिलाओं को 1.6 KM की रेस 8.5 Minutes में पूरी करनी होती है, जबकि लद्दाख रीजन के महिला अभ्यर्थियों के लिए 800 मीटर की रेस को अधिकतम 4 Minutes में पूरी करनी जरूरी है।

SSC JE एसएससी जेई –

SSC JE के माध्यम से हर साल भारत सरकार तमाम संगठनों, इंजीनियरिंग विभागों में ग्रुप B के तकनीकी पदों को भरने के लिए SSC के माध्यम से परीक्षाएं आयोजित कराती है।

SSC Kya Hai
SSC Kya Hai, SSC JE

एसएससी जेई के माध्यम से Junior Engineer (Civil अथवा Electrical अथवा Mechanical अथवा Civil and Mechanical अथवा Electrical & Mechanical अथवा Quality Surveying & Contracts अथवा Naval Quantity Assurance)– (Mechanical) अथवा Naval Quantity Assurance)– (Electrical)) पदों के लिए भर्तियाँ की जाती है, जो कि इंजीनियरिंगके लिए एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है।

एसएससी जेई के लिए आवश्यक योग्यता –

SSC JE की परीक्षा देने के लिए आपके पास टेक्निकल नॉलेज होना जरूरी है, जिसक लिए किसी भी मान्यता प्राप्त कालेज या संस्थान से सिविल, एलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल मे से किसी एक में डिप्लोमा या स्नातक डिग्री होनी चाहिए तभी आप इसके लिए योग्य हो सकते है।

इसके अलावा SSC JE के लिए आलग-अलग पदों के लिए अलग-अलग नियम है जिन्हें आप डिटेल्स में समय-समय पर आने वाली SSC JE की वैकेंसी फॉर्म में देख सकते है।

एसएससी जेई की परीक्षा के लिए उम्र सीमा –

SSC JE के लिए सामान्य आयु सीमा 18 से 27 साल के बीच है, अलग-अलग कैटगरी के अभ्यर्थियों के लिए अलग-अलग छूट दिए जाते है-

CategoryAge Relaxation
OBC3Years
SC/ST5 Years
PH+General10 Years
PH+OBC13 Years
PH+SC/ST15 Years
Ex-Servicemen (General)3 Years
Ex-Servicemen (OBC) 6 Years
Ex-Servicemen (SC/ST) 8 Years

पोस्ट के अनुसार एसएससी जेई के लिए उम्र सीमा –

Post Nameविभाग Age Limit
JE (Civil)Central Water Commission 18-32 Years
JE (Mechanical) Central Water Commission 18-32 Years
JE (Civil) CPWD18-32 Years
JE (Electrical) CPWD18-32 Years
JE (Civil) Department of Post18-27 Years
JE (QS&C)MES18-27 Years
JE (Civil) MES 18-30 Years
JE (Electrical& Mechanical ) MES 18-30 Years
JE (Civil) Farakka Barraga (Project)18-30 Years
JE (Electrical) Farakka Barraga (Project) 18-30 Years
JE (Mechanical) Farakka Barraga (Project) 18-30 Years
JE (Civil) Director General Border Roads Organisation18-30 Years
JE (Electrical)Director General Border Roads Organisation 18-30 Years
JE (Mechanical)Director General Border Roads Organisation 18-30 Years
JE (Civil)Central Water Power Research Station18-30 Years
JE (Electrical)Central Water Power Research Station 18-30 Years
JE (Naval Quality Assurance)- ElectricalDirectorate of Quality Assurance (Naval)18-30 Years
JE (Naval Quality Assurance)- Mechanical Directorate of Quality Assurance (Naval) 18-30 Years
JE (Civil) NTRO18-30 Years
JE (Electrical) NTRO 18-30 Years
JE (Mechanical) NTRO 18-30 Years

SSC JHT एसएससी जेएचटी –

JHT का फुल फॉर्म “Junior Hindi Translator” या हिन्दी में “जूनियर हिन्दी ट्रांसलेटर” कहा जाता है, JHT की परीक्षा के माध्यम से भारत सरकार के विभिन्न विभागों जैसे –

SSC Kya Hai
SSC Kya Hai, SSC Junior Hindi Translator
  • Central Secretariat Official Language Service (CSOLS)
  • Ministry of Railways (रेलवे बोर्ड)
  • M/o shipping
  • Armed Forces Headquarters (AFHQ)
  • M/o External Affairs
  • M/o Housing and Urban Affairs
  • Directorate of Enforcement (D/o Revenue)
  • Central Hindi Training Institute (CHTI)
  • M/o Power
  • M/o Mines
  • M/o Environment & Forests and Climate Change
  • इसके अलावा subordinate offices जिन्होनें कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग के Model भर्ती के नियमों को accept किया है।

इत्यादि में जूनियर हिन्दी ट्रांसलेटर, जूनियर ट्रांसलेटर, सीनियर ट्रांसलेटर, हिन्दी प्राध्यापक के पदों पर नियुक्ति मिलती है।

JHT के लिए आवश्यक योग्यतायें –

Junior Translator/ Junior Hindi Translator –

इन पदों के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से हिन्दी भाषा में बाकी के सब्जेक्ट में अंग्रेजी के साथ पोस्ट ग्रेजुएट होना जरूरी है या अंग्रेजी भाषा में पोस्ट ग्रेजुएट होना जरूरी है साथ में हिन्दी भाषा भी शामिल हो।

या

किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में पोस्ट ग्रेजुएट हो और साथ में ऐकडेमिक में हिन्दी या अंग्रेजी में से कोई एक विषय होना चाहिए।

additional qualification – ऊपर बताई गयी शर्तों के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से Hindi to English / English to Hindi में डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स किया होना चाहिए, यदि डिप्लोमा या सर्टिफिकेट नहीं है तो दो साल तक किसी भी सरकारी विभाग में अनुवादक का काम करने का अनुभव हो।

Senior Hindi Translator के लिए आवश्यक योग्यताएं –

सीनियर हिन्दी ट्रांसलेटर के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से हिन्दी भाषा में बाकी के सब्जेक्ट में अंग्रेजी के साथ मास्टर डिग्री होना जरूरी है या अंग्रेजी भाषा में मास्टर डिग्री होना जरूरी है साथ में हिन्दी भाषा भी शामिल हो।

या

किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में पोस्ट ग्रेजुएट हो और साथ में ऐकडेमिक में हिन्दी या अंग्रेजी में से कोई एक विषय होना चाहिए।

additional qualification – ऊपर बताई गयी शर्तों के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से Hindi to English / English to Hindi में डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स किया होना चाहिए, यदि डिप्लोमा या सर्टिफिकेट नहीं है तो तीन साल तक किसी भी सरकारी विभाग में अनुवादक का काम करने का अनुभव हो।

Hindi Pradhyapak के लिए आवश्यक योग्यताएं –

1- किसी भी मान्यता प्राप्त संस्था/विश्वविद्यालय से B.Ed. किया हुआ हो।

2- किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से अनिवार्य या वैकल्पिक के रूप में अंग्रेजी के साथ हिंदी में स्नातक की डिग्री या किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से किसी भी विषय में मास्टर डिग्री।

या

किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से किसी भी विषय में स्नातक की डिग्री (+) किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से डिग्री स्तर पर अनिवार्य या वैकल्पिक के रूप में अंग्रेजी के साथ हिंदी में मास्टर डिग्री।

additional qualification – राज्य सरकार या केंद्र सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त Senior Secondry Level स्कूल या शैक्षिक संस्थान में 2 साल तक पढ़ने का अनुभव हो।

JHT की परीक्षा के लिए उम्र सीमा –

नीचे तालिका में एसएससी द्वारा सभी वर्गों को दी जाने वाली छूट के बारे में जानकारी दी गयी है-

CategoryAge Relaxation (आयु सीमा में छूट)
OBC3 years
SC/ST5 years
PwD10 years
PwD + OBC 13 years
PwD + SC/ST15 years
Ex- Srvicemen (General)3 years
Candidates With Domicile of J&K5 years
Defense Personnel disabled in Operation3 years
Defense Personnel disabled in Operation (SC/ST)8 years

SSC CPO एसएससी सीपीओ –

CPO का फुल फॉर्म “Central Police Organisation” होता है, हिन्दी में इसे “केंद्रीय पुलिस संगठन” कहा जाता है।

SSC Kya Hai
SSC Kya Hai, SSC CPO

भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधिकार के तहत केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल, भारत के सात सर्वश्रेष्ठ अर्धसैनिक बलों को संदर्भित करता है।

Central Reserve Police Force (CRPF), Sashastra Seema Bal (SSB), Assam Rifles (AR), National Security Guard (NSG), Indo-Tibetan Border Police (ITBP), Border Security Force (BSF) and Central Industrial Security Force (CISF) इत्यादि।

यहाँ पर ध्यान दें कि CAPFs के AR और NSG Division में की जाने वाली भर्ती एसएससी सीपीओ की परीक्षा के द्वारा नहीं होती।

नीचे उन पदों के बारे में जानकारी दी गयी है, जो एसएससी सीपीओ की परीक्षा के द्वारा भरे जाते है, परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद इनमें से किसी एक पद के लिए आपको चुना जा सकता है, नीचे दिए गए ये सभी पद गृह मंत्रालय के अंतर्गत आते है –

  • Sub Inspector in Sashastra Seema Bal (SSB)
  • Sub Inspector in Central Industrial Security Force (CISF)
  • Sub Inspector in Delhi Police
  • Sub Inspector in Indo-Tibetan Border Police Force (ITBP)
  • Sub Inspector in Border Security Force (BSF)
  • Sub Inspector in Central Reserve Police Force (CRPF)

CPO के लिए आवश्यक योग्यतायें –

SSC CPO के लिए आवेदन करने के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक होना जरूरी है।

यदि आप दिल्ली पुलिस में सब इन्स्पेक्टर बनना चाहते है तो ग्रेजुएशन के साथ मोटर साइकिल और कार (LMV) चलाने के वैध लाइसेन्स (केवल पुरुष अभ्यर्थियों के लिए) होना चाहिए, ध्यान दें आवेदन पत्र भरते समय ड्राइविंग लाइसेन्स की जरूरत नहीं पड़ती, Physical Endurance and Measurement Test (PET & PMT) से पहले यह आपके पास होना चाहिए।

CPO की परीक्षा के लिए उम्र सीमा –

Category Year
Minimum Age Limit (Male/Female)20 Year
Maximum Age Limit (Male/Female)25 Year
OBC3 Year
SC/ST5 Year
Ex-Servicemen3 Year

CPO के लिए लंबाई के शारीरिक मापदंड सभी पदों के लिए –

Height/लंबाई – कैटगरी के अनुसार अभ्यर्थियों की लंबाई के बारे में जानकारी

Category Height
जनरल कैटगरी के पुरुष अभ्यर्थी170 cm
पहाड़ी क्षेत्रों से आने वाले पुरुष अभ्यर्थी165 cm
अनुसूचित जाति के पुरुष अभ्यर्थी132.5 cm
जनरल कैटगरी के महिला अभ्यर्थी157 cm
पहाड़ी क्षेत्रों से आने वाली महिला अभ्यर्थी155 cm
अनुसूचित जाति से महिला अभ्यर्थी154 cm

पहाड़ी क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाले स्थान- हिमाचल प्रदेश, गोरखाओं, डोगरा, मराठों, कश्मीर घाटी, जम्मू और कश्मीर, गढ़वाल, कुमाऊँ, उत्तर-पूर्वी राज्यों और सिक्किम के लद्दाख क्षेत्र सम्मिलित किये गए है।

Chest/सीना कम से कम 5cm सीने का फुलाव जरूरी है

Category Chest
जनरल कैटगरी के पुरुष अभ्यर्थीबिना फुलाये 80cm और फुलाने पर 85cm
पहाड़ी क्षेत्रों से आने वाले अभ्यर्थीबिना फुलाये 80cm और फुलाने पर 85cm
Scheduled Tribes से आने वाले अभ्यर्थीबिना फुलाये 77cm और फुलाने पर 82cm

महिला अभ्यर्थियों के लिए सीने की माप की जरूरत नहीं है।

Physical Endurance Test पुरुष और महिला दोनों के लिए –

शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को Long Jump, High Jump और Shot Put आदि में भाग लेना पड़ेगा, महिला अभ्यर्थियों को shot put में टेस्ट नहीं देना पड़ता है।

1.100 मीटर की रेस के लिए 16 सेकेंड का समय दिया जाएगा
2.1.6 किलोमीटर की रेस के लिए 6.5 मिनट का समय दिया जाएगा
3.Long Jump: 3.65 मीटर
4.High Jump: 1.2 मीटर
5.Shot Put (16 Lbs): 4.5 मीटर

महिला अभ्यर्थियों के लिए PET TEST

1. 100 मीटर रेस के लिए 18 सेकेंड दिया जाएगा
2.800 मीटर की रेस के लिए 4 मिनट का समय दिया जाएगा
3.Long Jump: 2.7 मीटर
4.High Jump: 0.9 मीटर

Note- long jump, high jump और shot put के लिए अभ्यर्थियों को 3 मौके दिए जाते है जबकि रेस को पूरा करने के लिए केवल एक ही मौका दिया जाता है।

एसएससी सीपीओ के लिए Medical Examination Eligibility

1- आपकी आंख 6/6 की होनी चाहिए| अगर आपकी एक आंख 6/9 की है तब भी कोई दिक्कत नहीं है| 6/6 vision को ‘Better Eye’ की श्रेणी में रखा गया है और 6/9 vision को ‘Worse Eye’ की श्रेणी में रखा गया है|

2- अभ्यर्थी के आँखें 6/6 की होनी जरूरी है, यदि एक आँख 6/9 की है, तो भी कोई problem नहीं है, यहाँ पर ध्यान दें कि 6/6 के विजन को “better” की श्रेणी में रखा गया है, और 6/9 के सबसे खराब यानि “worse” की श्रेणी में रखा गया है, दाएं हाथ (Right Hand) के व्यक्ति में, दाईं आंख ‘Better Eye’ होनी चाहिए और बाएं हाँथ (Left Hand) के व्यक्ति में बांयीं आंख ‘Better Eye’ होनी चाहिए।

3- बिना किसी चश्मे या लेंस (lance) के उपयोग के बिना आपकी आँखों की रोशनी 6/6 होनी चाहिए, लेसिक (lesic) सर्जरी की अनुमति नहीं है।

4- आपको रंगों को पहचानना आना चाहिए, Colour Blindness नहीं होना चाहिए।

5- knock knee, flat foot, varicose vein or squint in eyes से परेशान है तो आपको मेडिकल में छांट दिया जायेगा|

6- सुनने में किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

SSC Stenographer –

एसएससी के द्वारा हर साल भारत सरकार के विभिन्न विभागों, मंत्रालयों और संगठनों में आशुलिपिक के खाली पदों को भरने के लिए SSC Stenographer Exam की परीक्षाएं आयोजित की जाती है।

आशुलिपि में लिखने की प्रक्रिया को स्टेनोग्राफी कहा जाता है, Stenography में शॉर्ट्हैन्ड एक अत्यंत तीव्र गति से संक्षिप्त प्रतीकात्मक लेखन विधि है।

SSC Kya Hai
SSC Kya Hai, SSC Stenographer

शॉर्टहैन्ड में शब्दों की जगह चिन्हों (Symbol) का प्रयोग किया जाता है, इसकी मदद से किसी भी तेज बोलते हुए व्यक्ति की बातों को लिखना आसान हो जाता है।

जो व्यक्ति स्टेनोग्राफी यंत्र का प्रयोग करके किसी भाषण या किसी अन्य बातों को शॉर्टहैन्ड में लिखने का काम करता है, उसे स्टेनोग्राफ़र (Stenographer) कहा जाता है।

SSC Stenographer के तहत आने वाले विभाग –

एक आशुलिपिक के जरूरत राज्य सरकार या केंद्र सरकार के सभी कार्यालयों में होती है, नीचे केंद्र सरकार के कुछ… उन विभागों के बारे में बताया गया है, जिसमें जो इस परीक्षा के Aspirants की पहली पसंद होते है, ध्यान दें यह लिस्ट कोई रैंकिंग के हिसाब से नहीं है।

  • Indian Foreign Service
  • President’s Secretariat
  • Central Board of Direct Taxes (CBDT) – Income Tax Department
  • Central Secretariat
  • Election Commission of India
  • Railway Board Secretariat
  • Central Board of Indirect Taxes and Customs
  • National Investigation Agency
  • Comptroller and Auditor General of India (CAG)
  • Armed Forces HQs
  • Ministry of Parliamentary Affairs
  • Intelligence Bureau
  • Central Vigilance Commission

SSC Stenographer Job Profile –

जैसा कि हमने ऊपर भी बात की है कि आशुलिपिक का कार्य है, अपने मंत्रियों एवं वरिष्ठ अधिकारीयों के भाषणों को नोट करना।

इस काम में भाषण के विवरण को ध्यान से लिखना होता है क्योंकि इस तरह के भाषण सरकारी रिकॉर्ड का हिस्सा होते हैं।

जॉब मिलने के बाद केंद्र सरकार के 1st Class Officers के Personal Assistant (PA) के रूप में काम करना होगा।

इसके अलावा मीटिंग अरेंज करना। लोगों को फोन कॉल का जवाब देना, आधिकारिक दस्तावेजों और फाइलों को संभालना, कार्यालय व यात्रा संबंधी मामलों की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी आशुलिपिक की होती है।

SSC Stenographer Posting Locations –

आशुलिपिक में आपकी तैनाती का स्थान इस बात पर निर्भर करता है कि आपको ‘C’ या ‘D’ में से किस ग्रेड के लिए चुना गया है।

यदि आपको ‘C’ ग्रेड के लिए चुने गए अभ्यर्थियों की पोस्टिंग दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के मंत्रालयों /विभागों में होती है।

इसके बाद बचत है Group ‘D’ तो इसे ‘X’ और ‘Y’ नाम से दो भागों में बांटा गया है –

Group ‘X’ – ग्रुप ‘X’ में चयनित अभ्यर्थियों की तैनाती ज्यादातर दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के मंत्रालयों में की जाती है।

Group ‘Y’ – ग्रुप ‘Y’ में सलेक्ट हुए अभ्यर्थियों की तैनाती, सेंट्रल गवर्मेंट के अधीन आने वाले किसी भी विभाग या कार्यालय में पूरे भारत में कहीं पर भी की जा सकती है।

Stenographer के लिए आवश्यक योग्यतायें –

एसएससी स्टेनोग्राफर की परीक्षा के लिए ग्रुप ‘C’ और ‘D’ में अप्लाइ करने के लिए, अभ्यर्थी किसी भी मान्यता प्राप्त, बोर्ड या विश्वविद्यालय से 12th (10+2) या इसके समकक्ष किसी परीक्षा को उत्तीर्ण किया हुआ हो।

यह परीक्षा आपने किसी भी स्ट्रीम (Science, Art, Agriculture, Commerce etc.) से की हो सभी मान्य है।

SSC Stenographer के लिए आयु सीमा –

यदि आप ग्रुप ‘C’ की परीक्षा के लिए आवेदन कर रहे है तो इस पोस्ट के लिए आयु 18 से 30 वर्ष के बीच में होनी चाहिए।

अगर आप ग्रुप ‘D’ की परीक्षा के लिए अप्लाइ कर रहे है तो आपकी उम्र 18 से 27 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

अलग-अलग वर्गों की लिए निर्धारित किये गए उम्र सीमा को नीचे इस चार्ट के माध्यम से देख सकते है।

CategoryAge Relaxation
OBC3 Years
SC/ST5 Years
PH + General10 Years
PH + OBC13 Years
PH + SC/ST15 Years
Ex-Servicemen (General)3 Years
Ex-Servicemen (OBC)6 Years
Ex-Servicemen (SC/ST)8 Years

अन्य शर्तों की बात करें तो आवेदक को भारत का स्थाई नागरिक होना चाहिए, इसके अलावा यदि आप नीचे दी गयी इस लिस्ट में आते है तो भी इसके लिए योग्य है।

1. वे व्यक्ति जो नेपाल या भूटान के नागरिक है।

2. तिब्बत के शरणार्थी जो 1 जनवरी 1962 से पहले भारत में स्थाई रूप से बसने के इरादे से आये थे।

3. भारतीय मूल के वे व्यक्ति जो श्रीलंका, पाकिस्तान, बर्मा, तंजानिया के संयुक्त गणराज्य, युगांडा, जाम्बिया, इथियोपिया, ज़ैरे, मलावी और वियतनाम केन्या के पूर्वी अफ्रीकी देशों, से स्थायी रूप से भारत में बसने के लिए प्रवास कर चुके हैं।

SSC Stenographer Exam Syllabus –

एसएससी के द्वारा स्टेनोग्राफर की परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती है, पहले चरण की परीक्षा में अब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाएंगे।

यह अनलाइन कंप्युटर बेस्ड इग्ज़ैम होगा, जिसमें General Intelligence and Reasoning, General Awareness और English Language and Comprehension से सवाल पूछे जाते है।

इस परीक्षा के दूसरे चरण में स्किल टेस्ट होता है, जिसमें शॉर्टहैन्ड राइटिंग के बारे में ज्ञान और कंप्युटर में टाइप करने की स्पीड को जांचा जाएगा।

Phase ExamExam Type
Phase – IObjestive Multiple Type QuestionComputer Based (Online)
Phase – IISkil TestPen and Paper Based + Computer

एसएससी में जॉब धारक को कितनी सैलरी मिलती है?

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा दी जाने वाली सैलरी अलग-अलग पोस्ट के हिसाब से अलग-अलग होती है, इसके साथ ही यह विभिन्न शहरों के ऊपर भी निर्भर करता है कि आपकी सैलरी कितनी होगी, नीचे हमने इसके बारे में बात की है।

सिटी के हिसाब से दी जाने वाली सैलरी का निर्धारण शहरों के आधार पर किया जाता है, हो सकता है कि आप जानते हो कि कोई भी चीज बड़े मेट्रो सिटी की तुलना में छोटे शहरों में सस्ती मिलती है, बड़े शहरों में महंगाई ज्यादा होती है।

एक ही काम के लिए अलग-अलग शहरों में अलग खर्च लगता है और यह खाने-पीने, रहने, यात्रा इत्यादि सभी चीजों पर प्रभाव डालता है, जिससे व्यक्ति के कार्यक्षमता पर सीधा प्रभाव पड़ता है।

यदि किसी व्यक्ति को छोटे शहर में महीने के 35,000 रुपये सही लगते हो, तो वहीं मेट्रो सिटी में वहाँ की महंगाई के हिसाब से 35,000 रुपये कम लगते है।

इसलिए किसी भी सरकारी कर्मचारी की सैलरी को तय करने के लिए भारत के सभी शहरों को X, Y और Z Class City में बांटा गया है। (SSC Kya Hai)

नीचे ये शहरों के नाम है जिन्हें X Class Cities की लिस्ट में रखा गया है- Mumbai, Kolkata, Hyderabad, Delhi, Chennai, Bangalore, Ahmadabad

Y Class Cities के अंतर्गत आने वाले शहर- Vijayawada, Kochi, Madurai, Coimbatore, Warangal, Jabalpur, Jamshedpur, Indore, Gorakhpur, Chandigarh, Patiala, Jodhpur, Tiruchirapalli, Hubli – Dharwad, Bhavnagar, Raipur, Mysore, Mangalore, Guntur, Bhubaneshwar, Cuttack, Amravati, Aurangabad, Salem, Allahabad, Amritsar, Bhopal, Kanpur, Nagpur, Lucknow, Patna, Faridabad, Varanasi, Agra, Meerut, Pune, Surat, Jaipur, Visakhapatnam, Trivandrum, Rajkot, Vadodra, Ludhiana, Nashik, Belgaum, Asansol, Srinagar, Bhilai, Rajahmundry, Kakinada, Nellore, Solapur, Ranchi, Guwahati, Gwalior, Pondicherry इत्यादि।

ऊपर दिए गए शहरों के अलावा जो भी सिटी बच जाती है उन्हें Z Class Cities की लिस्ट में रखा गया है।

SSC से जुड़े जरूरी तथ्य –

SSC Kya Hai इससे जुड़ी महत्वपूर्ण चीजों के बारे में बात की है, लेकिन इसके अलावा भी ऐसे कुछ सवाल है जो अक्सर लोगों के मन में आते रहते है, नीचे हमने और कुछ अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के बारे में बात की है-

क्या दिव्यांग महिलायें भी एसएससी की परीक्षा में शामिल हो सकती है?

Yes, साधारण व्यक्तियों की तरह ही दिव्यांग महिला या पुरुष दोनों परीक्षा में शामिल हो सकते है, लेकिन इसके लिए उनके पास विकलांगता का सर्टिफिकेट होना चाहिए और यदि व्यक्ति 60 से 70% तक ही Differently Disable होना चाहिए, यदि व्यक्ति 90% तक या उससे ज्यादा विकलांग होता है तो वह SSC की परीक्षा में नही बैठ सकता।

यह ध्यान दें कि 60 से 70% तक दिव्यांग अभ्यर्थी को परीक्षा देने की अनुमति होती है लेकिन ऐसे कुछ ही जॉब्स होते है जिनके लिए दिव्यांग जनों को नौकरी दी जा सकती है।

इतना ही नही दिव्यांग अभ्यर्थियों को परीक्षा में आयोग की तरफ से विशेष छूट दी जाती है, जैसे परीक्षा के लिए मिलने वाले समय में उन्हें 20% ज्यादा समय दिया जाता है, बाकी के अभ्यर्थियों की तुलना में, इसके साथ ही उम्र के आधार पर भी काफी छूट दी जाती है, जिसे आप ऊपर SSC CGL के उम्र तालिका में देख सकते है।

SSC की परीक्षाओं के लिए कितनी बार परीक्षा दे सकते है?

Staff Selection Commission की परीक्षाओं के लिए कोई भी सीमा नहीं है आप जितनी बार चाहें इसकी परीक्षा दे सकते है, परीक्षा देने की संख्या को लेकर किसी भी प्रकार की बाध्यता नहीं है।

लेकिन आप ध्यान जरूर रखें कि जिस किसी भी परीक्षा के लिए आप अप्लाइ करने जा रहे है क्या आप उसके लिए eligible है या नहीं यह देखते हुए उसके सभी नियम और शर्तों को पूरा करें।

आप केवल फॉर्म भरने के लिए या पेपर देखने के लिए फॉर्म न भरें जब आप उसके लिए वास्तव में तैयार हो तब आवेदन कर सकते है, हर साल करोड़ों आवेदन SSC के पास आते है जिसमें बिना किसी भी प्रकार की त्रुटि किये सारी प्रक्रियाएं पूरी करनी होती है और इसमें काफी सारा श्रम और संसाधन लगता है।

SSC Kya Hai एसएससी क्या है?

SSC का फुल फॉर्म ‘स्टाफ सिलेक्शन कमीशन’/Staff Selection Commission होता है, SSC एक भारतीय ऑर्गनाईजेशन है, हिन्दी में इसे ‘कर्मचारी चयन आयोग’ कहा जाता है।

कर्मचारी चयन आयोग भारत सरकार के मंत्रालयों और विभिन्न विभागों में Group B और Group C के विभिन्न पदों के लिए भर्ती और इस भर्ती की प्रक्रिया को सुचारु रूप से करने के लिए परीक्षाएं आयोजित करता है, आशा करता हूँ SSC Kya Hai इसके बारे में आपको इनफार्मेशन मिल गयी होगी…

SSC Kya Hai इसके बारे में जाने के लिए आप यह विडिओ भी देख सकते है-

एसएससी की तैयारी कैसे करें?

तो दोस्तों इस आर्टिकल में हमने जाना कि SSC Kya Hai? और एसएससी की तैयारी कैसे करें? तो यह आपके ऊपर निर्भर करता है किस माध्यम से तैयारी करना चाहते है।

आज के समय में बहुत से ऑप्शन उपलब्ध है, आप चाहें तो ऑफलाइन कोचिंग संस्थान में जाकर तैयारी कर सकते है या अनलाइन फ्री/पेड कोर्स की मदद से घर बैठे अपनी तैयारी कर सकते है।

इसके साथ ही इस बात का जरूर ध्यान रखें कि कॉम्पिटिटिव एक्जाम में आज के समय में कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती है इसलिए आपको उसी कॉम्पिटिशन के हिसाब से अपनी तैयारी को प्लान करना होगा, तभी सफलता निश्चित कर सकते है।

SSC की परीक्षा देने के लिए एजुकेशन के अलावा और कौन सी योग्यताएं जरूरी है?

कर्मचारी चयन की परीक्षा में बैठने के लिए, कुछ जरूरी शर्तों में से एक है भारतीय होना, इसके साथ ही कुछ परिस्थितियों में गैर भारतीय (जैसे प्रवासी ) को भी कुछ विशेष परिस्थितियों में परीक्षा में बैठने की छूट दी जाती है, इसके बारे में विस्तृत जानकारी के लिए, कृपया वैकेंसी पर दिए गए निर्देशों को पढ़ें।

SSC Kya Hai | एसएससी क्या है? | SSC in Hindi | SSC Kya H | SSC Kya Hota Hai | एसएससी क्या होता है? | SSC में कौन-कौन सी पोस्ट आती है? | एसएससी क्या हे। | एसएससी के सभी पोस्ट

क्या दिव्यांग महिलायें भी एसएससी की परीक्षा में शामिल हो सकती है?

साधारण व्यक्तियों की तरह ही दिव्यांग महिला या पुरुष दोनों परीक्षा में शामिल हो सकते है, लेकिन इसके लिए उनके पास विकलांगता का सर्टिफिकेट होना चाहिए और यदि व्यक्ति 60 से 70% तक ही Differently Disable होना चाहिए, यदि व्यक्ति 90% तक या उससे ज्यादा विकलांग होता है तो वह SSC की परीक्षा में नही बैठ सकता।

एसएससी क्या है?

SSC का फुल फॉर्म ‘स्टाफ सिलेक्शन कमीशन’/Staff Selection Commission होता है, SSC एक भारतीय ऑर्गनाईजेशन है, हिन्दी में इसे ‘कर्मचारी चयन आयोग’ कहा जाता है।

SSC की परीक्षाओं के लिए कितनी बार परीक्षा दे सकते है?

Staff Selection Commission की परीक्षाओं के लिए कोई भी सीमा नहीं है आप जितनी बार चाहें इसकी परीक्षा दे सकते है, परीक्षा देने की संख्या को लेकर किसी भी प्रकार की बाध्यता नहीं है।

एसएससी कितने साल का होता है?

पोस्ट के अनुसार एसएससी की परीक्षाओं में बैठने तथा जॉब करने की उम्र सीमा अलग-अलग होती है।

एसएससी में कौन कौन सी नौकरी आती है?

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) CGL, CHSL, Steno, JE, CAPF, JHT इत्यादि पदों पर अलग-अलग विभागों के लिए कई एग्जाम का आयोजन करवाता है।

कौन दे सकता है एसएससी एग्जाम?

भारत के सभी नागरिक इसकी परीक्षा दे सकते है लेकिन इसके साथ अन्य योग्यताएं भी जरूरी है।

एसएससी से क्या बनते हैं?

SSC हर साल कर्मचारी चयन आयोग (SSC) CGL, CHSL, Steno, JE, CAPF, JHT आदि जैसे कई एग्जाम का आयोजन करवाता है, जिसमें सलेक्ट होने पर आप इन विभागों में अलग-अलग लेवल पर अलग-अलग पदों पर काम करते है।

यह आर्टिकल भी पढ़ें-

एसएसबी क्या है? पूरी जानकारी SSB Kya Hai

आर्मी फुल फॉर्म, आर्मी क्या है, आर्मी में करियर कैसे बनाएं?

आर्मी फुल फॉर्म, आर्मी क्या है, आर्मी में करियर कैसे बनाएं?

SSC CHSL क्या है?, CHSL की पूरी जानकारी

SSC Kya Hai | एसएससी क्या है? | SSC in Hindi | SSC Kya H | SSC Kya Hota Hai | एसएससी क्या होता है? | SSC में कौन-कौन सी पोस्ट आती है?

Summary –

तो दोस्तों, SSC Kya Hai और इससे जुड़ी जानकारी के बारे में कैसा लगा हमें जरूर बताएं नीचे कमेन्ट बॉक्स में, ऊपर बताए गए जॉब्स के लिए कोई भी एक्शन लेने से पहले SSC की ऑफिसियल वेबसाईट और वैकेंसी फॉर्म से अपडेटेड जानकारी अवश्य पता करें, धन्यवाद 🙂

रोज कुछ नया सीखें, हमारे Instagram पेज को फॉलो करें –

इस आर्टिकल को दोस्तों के साथ शेयर करें !

A Student, Digital Content Creator, Passion in Photography... यहाँ आपको, योजना, एजुकेशन, गैजेट्स रिव्यू, टेक्नॉलजी, पैसे कमाने के तरीके और ढेर सारे टॉपिक्स से जुड़ी जानकारियां मिलती रहेंगी Follow Us » Facebook Instagram Twitter Quora

...

Leave a Comment