UPSC Kya Hai यूपीएससी पोस्ट,सैलरी,योग्यता की पूरी जानकारी | 3 Best Jobs of UPSC

UPSC Kya Hai? यूपीएससी क्या है? UPSC Kya Hota Hai? UPSC in Hindi, UPSC Ka Full Form Kya Hai?

वैसे तो देश में बहुत सी परीक्षाएं पूरे साल आयोजित की जाती है, लेकिन इनमें से कुछ ही परीक्षाएं ऐसी है जिनका रिजल्ट पूरे देश के अखबारों की सुर्खियां बनती है।

और इसमें पास होने वाले विद्यार्थी पूरे देश में नाम रोशन करते है, उन्हीं परीक्षाओं में से एक है “यूपीएससी” की परीक्षा।

यूपीएससी सीएसई पूरे भारत में सबसे महत्वपूर्ण परीक्षा होती है, यह न केवल एक कठिन परीक्षा है बल्कि इसके पोस्ट के हिसाब से भी अत्यंत महत्वपूर्ण है।

Hello Friends, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज हम बात करने जा रहे है, यूपीएससी के बारे में, UPSC Kya Hai? यह क्यों महत्वपूर्ण है? यूपीएससी के एग्जाम से कौन कौन से पोस्ट मिलते है, जानेंगे इन सारी बातों के बारे में उम्मीद करता हूँ… आपको यह पसंद आयेगा।

UPSC Kya Hai
Thumbnail (UPSC Kya Hai)

यूपीएससी क्या है? (UPSC Kya Hai) –

यूपीएससी भारत सरकार की एक केन्द्रीय संस्था है, UPSC का फुल फॉर्म “Union Public Service Commission” होता है, हिंदी में इसे “संघ लोक सेवा आयोग” के नाम से जाना जाता है।

हर साल यूपीएससी परीक्षाओं के माध्यम से प्रथम श्रेणी, द्वितीय श्रेणी के अधिकारियों और सिविल सेवकों का चयन करती है।

पहले इसका नाम PSC यानि पब्लिक सर्विस कमीशन (Public Service Commission) रखा गया था जिसकी स्थापना 1 अक्टूबर 1926 को हुई थी,

जिसके 26 अक्टूबर 1950 को PSC के अधिकारों का विस्तार करते हुए, इसका नाम बदलकर यूपीएससी रखा गया जिसे हम आज भी इसी नाम से जानते है।

यूपीएससी से पासआउट अभ्यर्थी देश के विभिन्न भागों में महत्त्वपूर्ण पदों पर कार्य करते है, ये ऐसे पद होते है जो किसी जिले या राज्य के सुचारू रूप से चलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

यही कारण है कि इन पदों के चयन के लिए पूरे देशभर से योग्य, समय पर फैसले लेने में सक्षम और कार्यकुशल अभ्यर्थियों का चयन किया जाता है।

यूपीएससी एक कठिन परीक्षा है, इस बात का अनुमान इस बात से लगा सकते है, कि हर साल लाखों लोग इस परीक्षा में बैठते है और परीक्षा के हर चरण के बाद अंतिम में एक से दो हजार परीक्षार्थी हो सेलेक्ट किए जाते है।

UPSC Kya Hai इसके बारे में आपको जानकारी मिल गयी होगी, आगे हम इसके द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं के बारे में बात करेंगे।

यूपीएससी के द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाएं –

यूपीएससी के द्वारा हर साल कई पदों के लिए परीक्षाएं आयोजित की जाती है जिसमें अलग-अलग विभागों के लिए वैकेंसी निकाली जाती है।

आगे हम इन सभी पोस्ट के बारे में जानेंगे कि ये कौन-कौन से पोस्ट होते है और इनके लिए यूपीएससी के द्वारा कौन सी परीक्षा आयोजित की जाती है।

1. UPSC CSE (Civil Service Exam) –

सीएसइ का मतलब “सिविल सर्विस एक्जाम” होता है, यूपीएससी के द्वारा आयोजित की जाने वाली यह परीक्षा पूरे भारत में लाखों लोगों का सपना होती है।

UPSC CSE के द्वारा Group “A” और Group “B” पोस्ट के लिए अधिकारियों और सिविल सेवकों का चयन परीक्षा के माध्यम से करती है, UPSC CSE के माध्यम से कुल मिलकर लगभग 24 पदों के लिए परीक्षाएं आयोजित की जाती है।

UPSC Kya Hai
UPSC CSE, UPSC Kya Hai

वैसे तो हर परीक्षा के लिए लोग अपना 100% देने की कोशिश करते है, आपने किसी भी एक्जाम के बारे में सुना हो या न सुना हो लेकिन सिवल सर्विस एक्जाम यानि UPSC Kya Hai इसके बारे में जरूर सुना होगा।

ऐसा इसलिए कि इस परीक्षा को पास करने वाले अभ्यर्थी देख के मत्वपूर्ण पदों पर काम करते है, इसमें से कुछ ऐसे पद है जो किसी अन्य परीक्षा से हासिल नहीं किये जा सकते है, उन्हीं पोस्ट में कुछ प्रमुख पद है IAS, IPS, IFS।

Eligibility –

इस परीक्षा को देने के लिए किसी भी अभ्यर्थी को कुछ योग्यताओं को पूरा करना होता है, अलग-अलग पोस्ट के अनुसार ये पोस्ट अलग-अलग हो सकते है।

Nationality –

यूपीएससी के परीक्षा देने के लिए अभ्यर्थी का भारत का नागरिक होना अनिवार्य (कुछ पदों को छोड़कर) है, यदि कोई व्यक्ति भारत का नागरिक नहीं है तो भी कुछ पदों के लिए ऐसे अभ्यर्थी भी परीक्षा दे सकते है।

IAS, IPS, IFS (Indian Foreign Service) के पदों के लिए केवल भारत के मूल नागरिक ही परीक्षा दे सकते है।

इन पदों को छोड़कर बाकी के 21 पदों के लिए… नेपाल भूटान के नागरिक, तिब्बत के नागरिक जो साल 1962 से पहले भारत में स्थाई रूप से रहने के इरादे से भारत में आये थे और PIO के अंतर्गत आने वाले नागरिक इसके लिए फॉर्म भर सकते है।

यदि आप भारत के नागरिक नहीं है तो आपको भारत सरकार के गृह मंत्रालय से Certificate of Eligibility का प्रमाण पत्र लेना पड़ता है।

Education –

भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी स्ट्रीम में आपके पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए, यदि आप स्नातक के अंतिम वर्ष में है तो भी फॉर्म भर सकते है।

Age Limit –

साल की गिनती हर साल 2/08 से की जाती है, अतः आप अपनी उम्र की गणना आप इस दिन को वर्तमान साल तक माने हुए अपने जन्मदिन दिवस (डॉक्यूमेंट) के गईं कर उम्र निकाल सकते है।

S.N.CategoryAge Limit
1.Genral21 – 32 वर्ष
2.OBC21 – 35 वर्ष
3.SC/ST21 – 37 वर्ष
4.EWS21 – 32 वर्ष
5.PwBD10 वर्ष की छूट दी जाती है
6.PwBD + Genral42 वर्ष तक
7.PwBD + OBC45 वर्ष
8.PwBD + SC/ST47 वर्ष
9.PwBD + EWS42 वर्ष
upsc kya hai

Attempts –

अलग अलग वर्गों के लिए यूपीएससी में परीक्षा देने की लिमिट अलग-अलग निर्धारित की गयी है।

यदि आप सभी परिस्थितियों को पूरा करते है तो ही इन सभी प्रयासों को कर सकते है, उदाहरण के तौर पर कोई व्यक्ति जनरल कैटगरी से आते है, और उनकी उम्र के हिसाब से केवल 2 साल ही बचे है तो वे केवल दो बार ही परीक्षा दे सकते है भले ही उस कैटगरी में 6 बार परीक्षा देने के चांस मिलते हों।

SC/ST से आने वाले अभ्यर्थियों के लिए परीक्षा देने की कोई सीमा नहीं है वे उम्र सीमा के अंदर जितनी बार चाहें परीक्षा दे सकते है।

S.N.CategoryAttempts
1.Genral6 Attempts
2.OBC9 Attempts
3.SC/STNo Limit (21- 37) वर्ष तक
4.EWS6 Attempts
5.PwBD + Genral9 Attempts
6.PwBD + OBC9Attempts
7.PwBD + SC/STNo Limit (21- 37) वर्ष तक
8.PwBD + EWS9 Attempts
upsc kya hai

Physical Standards –

यूपीएससी सीएसइ (UPSC CSE) के तहत दो तरह की जॉब्स होती है जिसमें शामिल है जो कि कुछ इस तरह है –

Technical Jobs –

इस तरह की जॉब के अंदर कुछ ही पोस्ट है जिन्हें टेक्निकल जॉब के अंतर्गत गिना जाता है, जैसे – पुलिस और IRTS (Indian Railway Traffic Service)

पुलिस में ऐसे कुल चार पोस्ट है जो यूपीएससी के माध्यम से भरे जाते है जिसमें शामिल है – आईपीएस (IPS), DANIPS (Delhi and Andaman Nicobar Police Service), PPS (पॉन्डिचेरी पुलिस सर्विस) और RPF (Railway Protaction Force)

टेक्निकल सर्विसेज़ के लिए शारीरिक योग्यताएं अलग होती है, जिन्हें सभी अभ्यर्थियों को पूरा करना होता है, नीचे इनके बारे में कुछ जानकारी दी गयी है –

Non Technical Jobs –

ऊपर बताई गयी सर्विसेज के अलावा बाकी के सभी पोस्ट नॉन टेक्निकल पोस्ट में गिने जाते है, जबकि नॉन टेक्निकल पोस्ट के लिए काफी आसान है।

Height –

पुलिस की नौकरी के लिए पुरुष की लंबाई 165 cm (5 फुट 6 इंच) कम से कम होनी अनिवार्य है, और महिलाओं के लिए 150cm (5 फुट 2 इंच) कम से कम होनी अनिवार्य है।

यदि कोई अभ्यर्थी पहाड़ी और ट्राईबल इलाके से आते है तो हाइट में 5-5 cm की छूट दी जाती है।

यदि IRTS की बात करें तो इस पोस्ट के लिए पुरुष अभ्यर्थियों की लंबाई 152 cm (लगभग 5 फुट 1 इंच ) और महिलाओं के लिए लंबाई कम से कम 150 cm होनी अनिवार्य है।

Eye Sight –

आप कितने भी नंबर का चश्मा पहनते हो कोई दिक्कत की बात नहीं है यह टेक्निकल और नॉन टेक्निकल दोनों जॉब्स के लिए लागू होती है।

यदि करेक्शन (चश्मा लगाने या ऑपरेशन कराने के बाद) के बाद यदि अच्छी आँख 6/6 – 6/12 है या 6/9 – 6/9 (दूर का विजन) है तो आप टेक्निकल सर्विस के लिए फिट है।

यदि चश्मे का नंबर 6 या 6+ हुआ तो उसके लिए एक स्पेशल चेकअप होता है इसका कारण केवल यह देखना है कि कहीं ऐसी कोई दिक्कत तो नहीं है जिससे कि आगे चलकर ज्यादा समस्या आ सकती है, यदि यह स्थिर है तो कोई दिक्कत की बात नहीं है।

नॉन टेक्निकल के पोस्ट के लिए यदि अच्छी वाली आँख 6/6 है और दूसरी वाली आँख चाहे 6/18 हो या Zero हो आप तो भी फिट है।

इसका मतलब है कि एक आँख पूरी तरह से ठीक नहीं होने के बावजूद भी दूसरी आँख से चश्मा लगाने के बाद 6/6 का विजन है तो भी आप किसी भी नॉन टेक्निकल सर्विस के लिए फिट है।

यदि किसी को NB (Night Blindness) की समस्या है तो नॉन टेक्निकल पोस्ट के लिए फिट है, यदि कलर ब्लाइन्ड, आँखों में भैंगापन है तो भी नॉनटेक्निकल सर्विसेज़ के लिए बिल्कुल फिट है।

कुल मिलकर बात करें तो आपको आँखों को लेकर कोई परेशानी नहीं होने वाली है यहाँ तक की ब्लाइन्ड (आँखों से कुछ भी दिखाई न देने पर भी) कैंडीडेट को भी आरक्षण मिलता है… तो आप खुद सोच सकते है।

Blood Pressure –

यदि किसी अभ्यर्थी की B.P. 140 – 190 तक है तो वो ठीक है, यदि किस भी प्रकार की चिंता या खुशी के कारण अभ्यर्थी का ब्लड प्रेशर ज्यादा आता है तो डॉक्टर उसे कुछ समय के लिए आराम करने के लिए कहते है।

और यदि इसके बाद भी ब्लड प्रेशर असामान्य आता है तो उसे उसी समय हॉस्पिटल में ले जाया जाता है फिर वहाँ पर सारे चेकअप होते है, और ये पता किया जाता है कि ब्लड प्रेशर की वजह से कोई कॉम्पलिकेशन नहीं है जिसकी वजह से भविष्य में कोई दिक्कत या सकती है या नहीं।

यदि अभ्यर्थी को डायबिटीज है और रिजल्ट असामान्य आते है तो तीन महीने का समय दिया जाता है उसे कंट्रोल करने के लिए, जब तक की कोई गंभीर समस्या न हो।

UPSC CSE Selection Process –

यूपीएससी के लिए अभ्यर्थियों की चयन प्रक्रिया तीन चरणों में सम्पन्न होती है, जो कुछ इस प्रकार है –

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam) –

यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा जून माह में आयोजित होती है, इस परीक्षा में दो पेपर होते हैं, जिसमें पहला है सामान्य अध्ययन (General Studies) जो कि प्रथम प्रश्न पत्र के रूप में आता है और दूसरा पेपर है सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट (Civil Services Aptitude Test)।

जिसमें प्रत्येक प्रश्न पत्र 200 अंको का होता है और सभी प्रश्न बहुविकल्पीय (Objective Type) होते हैं जिन्हें हल करने के लिये आपको चार घंटों का समय मिलता है।

प्रत्येक प्रश्न पत्र के लिये दो घंटे का समय, इस परीक्षा में प्राप्त अंक फाइनल रिजल्ट में नहीं जोड़े जाते है, लेकिन इसे पास किये बिना आप मुख्य परीक्षा में नहीं बैठ सकते है।

मुख्य परीक्षा (Mains Exam) –

मुख्य परीक्षा अक्टूबर माह में आयोजित होती है, इस परीक्षा में कुल नौ पेपर होते हैं और तकरीबन 180 से 200 प्रश्न होते हैं जिनका कुल योग 1750 अंकों का होता है। प्रत्येक पेपर के लिये तीन घंटों का समय निर्धारित होता है।

पहला प्रश्न पत्र – इसमें आपको अठारह भारतीय भषाओं (Indian Languages) में से किसी एक भाषा का चयन करना होता है जिसके आधार पर यह पेपर होता है, और यह 300 अंको का होता है जिसमें 20 से 25 प्रश्न होते हैं, इस परीक्षा के अंक फाइनल मेरिट में नहीं जोड़े जाते है।

दूसरा प्रश्न पत्र – दूसरा प्रश्न पत्र अंग्रेजी भाषा (English Language) का होता है और यह भी 300 अंकों का होता है तथा इस पेपर के अंक भी फाईनल रिजल्ट में जोड़े जाते हैं।

तीसरा प्रश्न पत्र – मेंस का तीसरा पेपर Essay Writing का है, यह दो खण्डों में होता है जिसमे प्रत्येक खण्ड से एक – एक विषय पर निबंध लिखना होता है और यह पेपर 250 अंकों का होता है, इस परीक्षा में प्राप्त अंक अंतिम रिजल्ट में जोड़े जाते है।

चौथा, पांचवां, छठवां तथा सातवां प्रश्न पत्र – सभी प्रश्न पत्र सामान्य अध्ययन के होते हैं और प्रत्येक प्रश्न पत्र 250 अंकों का होता है, सभी पेपर अभ्यर्थियों की सामाजिक, आर्थिक इत्यादि मुद्दों की समझ को जाँचने के उद्देश्य से लिये जाते हैं, जिसमें विभिन्न मुद्दों व परिस्थितियों में अभ्यर्थी की सूझबूझ व जानकारी की परख की जाती है।

आठवां व नौवां प्रश्न पत्र – ये दो प्रश्न पत्र वैकल्पिक विषय (Optional Papers) के होते हैं जिन्हें आप अपनी रुचि के अनुसार अभ्यर्थी चुनते हैं, हर एक प्रश्न पत्र 250 अंकों का होता है इन दोनों परीक्षाओं के अंक अंतिम परिणाम में जोड़े जाते है।

साक्षात्कार (Interview) –

मेंस परीक्षा को पास करने वाले अभ्यर्थियों को इन्टरव्यू के लिए बुलाया जाता है, यह फरवरी से अप्रैल माह के बीच में आयोजित होते हैं।

इन्टरव्यू सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण चरण है, यह कुल 750 अंकों का होता है और इसमें अर्जित किये गये अंक मेरिट लिस्ट में जोड़े जाते हैं, इन्टरव्यू को हम अपनी मनपसन्द भाषा में दे सकते हैं जैसे हिंदी या अंग्रेजी इत्यादि।

2. UPSC SCRA (Special Class Railway Apprentice) –

SCRA यानि स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिस (Special Class Railway Apprentice), एक Group “A” की पोस्ट होती है, जो मुख्य रूप से रेलवे सेवा भर्ती के लिए आयोजित की जाती है, इच्छुक उम्मीदवार जो केंद्र सरकार के क्षेत्र में काम करने के इच्छुक हैं, वे परीक्षा दे सकते हैं।

UPSC Kya Hai
UPSC SCRA, UPSC Kya Hai

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC Kya Hai) द्वारा, परीक्षा और भर्ती की प्रक्रिया तीन चरणों में आयोजित की जाती है।

भारतीय रेलवे मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग संस्थान, जमालपुर में मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक कार्यक्रम के लिए छात्रों का चयन करने के लिए यूपीएससी द्वारा स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिस परीक्षा आयोजित की जाती है।

यूपीएससी एससीआरए परीक्षा भारतीय रेलवे यांत्रिक इंजीनियरिंग सेवा में प्रथम श्रेणी के अधिकारियों के पद के लिए कुशल स्नातकों को नियुक्त करने के लिए आयोजित की जाती है।

Educational Qualifications –

1 फॉर्म भरने के इच्छुक अभ्यर्थी ने भारत के किसी भी बोर्ड/संस्थान कम से कम 10+2 पूरी की हो।

2 उम्मीदवारों को एक अनिवार्य विषय के रूप में भौतिकी / रसायन विज्ञान के साथ गणित को एक विषय के रूप में पढ़ाई की हो।

3 अभ्यर्थी ने 10+2 में कम से कम द्वितीय श्रेणी के साथ परीक्षा उत्तीर्ण की हो।

4 अभ्यर्थी ने अपने तीन साल के स्नातक के पहले वर्ष को पास करने के लिए न्यूनतम द्वितीय श्रेणी प्राप्त की हो।

5 उम्मीदवारों को अपना प्री-इंजीनियरिंग स्तर न्यूनतम द्वितीय श्रेणी ग्रेड के साथ पास करना चाहिए (Aspirants should clear their pre-engineering level with a minimum of the 2nd division grade.)

6 अभ्यर्थी ने 12वीं कक्षा में कम से कम 45% अंक प्राप्त किये हों।

Nationality –

आवेदक को भारत का स्थाई नागरिक होना चाहिए, इसके अलावा नेपाल भूटान के नागरिक, तिब्बत के नागरिक जो 1st January साल 1962 से पहले भारत में स्थाई रूप से रहने के इरादे से भारत में आये थे।

भारतीय मूल के व्यक्ति जो बर्मा, श्रीलंका, पूर्वी अफ्रीकी देशों केन्या, पाकिस्तान, युगांडा, संयुक्त गणराज्य तंजानिया, ज़ाम्बिया, मलावी, इथियोपिया, ज़ैरे और वियतनाम से आये थे, भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से आये थे।

Age Limit –

SCRA के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी की उम्र, 17 साल से 21 साल के बीच होनी चाहिए, अलग-अलग कैटगरी के अनुसार इस उम्र सीमा में छूट भी निर्धारित है, नीचे दिए गए इस टेबल के माध्यम से देख सकते है –

S.N.CategoryAge Relaxation
1.SC/ST5 years
2.OBC3 years
3.Residence in Jammu and Kashmir5years
4.Defense Services Candidates3years
5.Ex-Serviceman/Military Services/ECOs/SSCOs 5 years

UPSC SCRA Exam Pattern –

SCRA प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए आयोग के कुछ नियम है, सभी चरणों के लिए हर साल एक निश्चित पैटर्न बनाया जाता है, SCRA के लिए किस तरह से परीक्षा आयोजित की जाती है इसके लिए नीचे इस टेबल को देखें –

S.N.चरणप्रकारमोड
1.लिखित परीक्षा (स्टेज I)ऑब्जेक्टिव टाइपऑफ़लाइन
2.पर्सनैलिटी टेस्ट (स्टेज II)पर्सनैलिटी टेस्टऑफ़लाइन

2. UPSC NDA (National Defence Academy) –

यूपीएससी के द्वारा साल में दो बार एनडीए की परीक्षाएं आयोजित की जाती है, हिंदी में इसे “राष्ट्रीय रक्षा अकादमी” के नाम से भी जाना जाता है, साल में दो बार आयोजित होने वाली इस परीक्षा को एनडीए (1) और एनडीए (2) के नाम से जाना जाता है।

UPSC Kya Hai
UPSC NDA, UPSC Kya Hai

वे अभ्यर्थी जो इंडियन आर्मी, इंडियन नेवी या एयरफोर्स ज्वाइन करना चाहते है, उनके लिए अपने सपने को सच करने का रास्ता एनडीए से होकर जाता है।

Eligibility –

For Army Wing of NDA – अभ्यर्थी को भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी बोर्ड से 12वीं (10+2) पास होना अनिवार्य है।

For Air Force an Naval Wings of NDA – एयरफोर्स और नेवल विंग्स में फॉर्म भरने के लिए उमीदवार को भौतिकी (Physics) और गणित (Mathmetics) विषय के साथ 12वीं (10+2) उत्तीर्ण होना चाहिए।

Age Limit –

अभ्यर्थी की उम्र कम से कम 15.7 years और अधिकतम उम्र 18.7 years से ज्यादा नहीं होनी चाहिए, उम्र सीमा के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए कृपया इसके नोटिफिकेशन फॉर्म को पढ़ें।

Physical Fitness Test –

1. अभ्यर्थियों को 2.4 किलोमीटर की दौड़ को पूरी करनी होगी और इसके लिए 15 मिनट का समय दिया जाएगा।

2. रस्सी कूद और कम से कम 20 पुशअप्स (Pushups) और सिटअप्स (Sit-ups) लगानी होंगी और इसके साथ कम से कम 8 चिनप्स (Chin-ups) को पूरा करना होगा।

3. अभ्यर्थियों को कम से कम 3.4 मीटर की Rope Climbing करनी होगी।

Height –

1. ग्राउन्ड ड्यूटी ब्रांच के लिए न्यूनतम लंबाई 157.5cm होनी चाहिए।

2. गोरखा और भारत के उत्तर पूर्वी क्षेत्र और उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्र से संबंधित व्यक्तियों (Gorkha and individuals belonging to North Eastern region of india and hilly region of Uttrakhand.) के लिए न्यूनतम लंबाई 152.5cm होनी चाहिए।

3. यदि एयरफोर्स के लिए अप्लाइ कर रहे है तो उसके लिए कुछ अन्य पैरामिटर्स को ध्यान में रखना पड़ता है, जो कि कुछ इस प्रकार है –

S.N.Height Requirement MinimumMaximum
1.Sitting Height 81.5 cm96.0 cm
2.Leg Lenth99.0 cm120.0 cm
3.Thigh Lenth64.0 cm

3. UPSC CDS (Combined Defence Services) –

एनडीए की तरह CDS भी साल में दो बार यूपीएससी के द्वारा आयोजित की जाती है, सीडीएस का फुल फॉर्म है “कंबाइंड डिफेन्स सर्विसेज” (Combined Defence Services) होता है, हिंदी में इसे “सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा” कहते है।

UPSC Kya Hai
UPSC CDS, UPSC Kya Hai

यदि आप इंडियन मिलिट्री एकेडमी, इंडियन एयरफोर्स, इंडियन नेवी ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी ज्वाइन करना चाहते है तो इन सभी पोस्ट को पाने के लिये रास्ता CDS से होकर जाता है।

कंबाइंड डिफेन्स सर्विसेज की इस परीक्षा में सफलता हासिल करनेवाले अभ्यर्थियों को भारतीय भारतीय नौसेना अकादमी एझिमाला, सैन्य अकादमी देहरादून, वायु सेना अकादमी हैदराबाद और अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी चेन्नई में प्रशिक्षण दिया जाता है।

तथा इस प्रशिक्षण को सफलता पूर्वक पूरा करनेवाले अभ्यर्थी को भारतीय सेना के प्रमुख अंगों में बतौर अधिकारी नौकरी करने का मौका मिलता है, पूरे भारत में आयोजित की जाने वाली इस परीक्षा में पुरुष और महिला दोनों ही शामिल हो सकते है।

Eligibility –

कंबाइंड डिफेन्स सर्विसेज की भारतीय सैन्य अकादमी और अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी के लिए परीक्षा में बैठने के लिए अभ्यर्थी का किसी भी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक या इसके समक्ष डिग्री होनी चाहिए।

वहीं भारतीय नौसेना अकादमी की परीक्षा देने के लिए भारत सरकार द्वारा मान्यताप्राप्त किसी भी विश्वविद्यालय/संस्थान से डिग्री या इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन होना चाहिए साथ ही 12 वीं1(0+2) भौतिक (Physics) एवं गणित (Math) सब्जेक्ट के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए।

जो छात्र अंतिम वर्ष/सेमेस्टर में डिग्री या पाठ्यक्रम की पढ़ाई कर रहे है, वे भी इस परीक्षा के लिए फॉर्म भर सकते है, इस बात का ध्यान रखना है कि कोर्स के प्रारंभ होने के समय पर आवश्यक डिग्री परीक्षा उत्तीर्ण करने का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।

Age Limit –

कंबाइंड डिफेन्स सर्विसेज की परीक्षा में अलग-अलग पदों के लिए अलग-अलग उम्र सीमा रखी गयी है, यदि आप किसी फील्ड में जाना चाहते है तो इससे संबंधित नीचे दिए गए चार्ट को देखें –

S.N.विभागआयु सीमा
1.Indian Military Academy19 से 24 साल
2.Indian Naval Academy19 से 25 साल
3.Indian Air Force Academy19 से 24 साल
4.Officers Training Academy- (SSC Women Non-Technical Course)19 से 25 साल

Marital Status –

यदि आप इस परीक्षा के लिए फॉर्म भर रहे है तो यह ध्यान रखें कि बाकी की योग्यताओं के साथ, वैवाहिक स्थिति भी चेक की जाती है, अलग-अलग पदों के लिए कुछ इस प्रकार है –

S.N.पोस्ट CDS Education EligibilityMarital Status
1.Indian Military Academy, भारतीय सैन्य अकादमी- IMAअभ्यर्थी किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय /संस्थान से स्नातक होना चाहिए।अविवाहित
2.Indian Naval Academy, भारतीय नौसेना अकादमी- INAअभ्यर्थी के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय /संस्थान से इंजीनियरिंग की डिग्री होनी चाहिए।अविवाहित
3.Indian Air Force Academy, वायु सेना अकादमी–AFAअभ्यर्थी के पास 12 वीं कक्षा में भौतिकी और गणित विषय के साथ इंजीनियरिंग की डिग्री होनी चाहिए, या किसी भी मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय/संस्थान से किसी भी विषय में B. Tech की डिग्री होना चाहिए।अविवाहित
4.Officers Training Academy, अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी-OTAअभ्यर्थी के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय /संस्थान से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।अविवाहित, विवाहित, विधवा, तलाकशुदा
upsc kya hai

CDS Exam Pattern –

भारतीय नौसेना अकादमी, वायु सेना अकादमी एवं भारतीय सैन्य अकादमी में एडमिशन लेने के लिए कुल 300 अंक के तीन परीक्षाएं आयोजित की जाती है।

ये तीनो पेपर अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, प्रारंभिक गणित के होते है और सभी विषयों के पेपर में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होते है।

इस परीक्षा में गलत उत्तर देने नेगेटिव मार्किंग का भी प्रावधान है और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 (0.33) काटे जाते है।

यहाँ पर यह ध्यान दें कि प्रारंभिक गणित के पेपर में 10th स्तर तक के प्रश्न पूछे जाते है, इसके अतिरिक्त अन्य विषयों का पेपर स्नातक के स्तर का होता है।

S.N.विषय अधिकतम अंक समय
1.हिंदी 1002 घंटे
2.सामान्य ज्ञान1002 घंटे
3.गणित 1002 घंटे

इसके अतिरिक्त अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी में प्रवेश के लिए कुल 200 अंकों की दो परीक्षाएं आयोजित की जाती है जिसमें पहला पेपर 100 अंक का अंग्रेजी एवं दूसरा पेपर 100 अंक का सामान्य ज्ञान का होता है।

S.N.विषय अधिकतम अंक समय
1.हिंदी 1002 घंटे
2.सामान्य ज्ञान1002 घंटे

CDS Selection Process –

सीडीएस की परीक्षा दो चरणों में सम्पन्न होती है, जिसके पहले चरण में लिखित परीक्षा और दूसरा चरण में इन्टरव्यू होता है।

इसमें अभ्यर्थियों का चयन लिखित परीक्षा, बौद्धिक व व्यक्तित्व परीक्षण और साक्षात्कार में प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है।

यूपीएससी (UPSC Kya Hai) की ओर से आयोजित सीडीएस परीक्षा लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को वरीयता के आधार पर सेवा चयन बोर्ड यानि एसएसबी के इन्टरव्यू के लिए बुलाया जाता है, जिसके तहत अभ्यर्थियों का बौद्धिक तथा व्यक्तित्व परीक्षण और साक्षात्कार लिया जाता है।

इसके बाद अभ्यर्थी का चयन होने पर मेडिकल किया जाता है, सभी स्टेप्स को पूरा करने के बाद अंतिम रूप से चुने गए उमीदवार को प्रशिक्षण दे कर भारतीय सेना के प्रमुख अंगों में बतौर अधिकारी चुन लिया जाता है।

यह आर्टिकल भी पढ़ें –

SSC क्या है? SSC की पूरी जानकारी, SSC में कौन-कौन से पद होते है?

एसएसबी क्या है? पूरी जानकारी SSB Kya Hai, 3rd Best Job for Paramilitary

SSC CHSL Kya Hai, CHSL की पूरी जानकारी हिन्दी में, 3 Best Jobs in CHSL

Summery Of Article –

तो दोस्तों, यूपीएससी क्या है? (UPSC Kya Hai) इसके बारे में यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं और यदि इस टॉपिक से जुड़ा आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो उसे नीचे कमेन्ट बॉक्स में लिखना न भूलें, इस आर्टिकल को लिखने में पूरी सावधानी रखी गयी है, फिर भी किसी प्रकार की त्रुटि पाए जाने पर कृपया हमें जरूर बताएं।

ब्लॉग पर आने वाले नए पोस्ट कि नोटिफिकेशन अपने फोन में पाने के लिए, बेल आइकॉन को दबाकर नोटिफिकेशन को Allow करना न भूलें, साथ ही ऊपर दिए गए स्टार वाले आइकॉन पर क्लिक करके इस पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें, धन्यवाद 🙂

रोज कुछ नया सीखें, हमारे Instagram पेज को फॉलो करें –

5/5(4 votes)
Spread the love

A Student, Digital Content Creator, Passion in Photography... Founder of Tech Enter. यहाँ पर आपको, योजना, एजुकेशन, गैजेट्स रिव्यू, टेक्नॉलजी, क्रिप्टो, पैसे कमाने के तरीके, फैशन& लाइफस्टाइल तथा ढेर सारे टॉपिक्स से जुड़ी जानकारियां मिलती रहेंगी Follow Us » Facebook Instagram Twitter Quora

Leave a Comment